इंफोसिस के सीएफओ रंगनाथ ने दिया इस्तीफा

नेक्स्ट जेनेरेशन की डिजिटल सर्विसेस और कंसल्टिंग की वैश्विक कंपनी इंफोसिस के मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) एम. डी. रंगनाथ ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।...

इंफोसिस के सीएफओ रंगनाथ ने दिया इस्तीफा

Infosys announces that CFO M.D. Ranganath has decided to step down to pursue professional aspirations

नई दिल्ली, 18 अगस्त। नेक्स्ट जेनेरेशन की डिजिटल सर्विसेस और कंसल्टिंग की वैश्विक कंपनी इंफोसिस के मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) एम. डी. रंगनाथ ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। वे 16 नवंबर तक अपने पद पर बने रहेंगे।

इंफोसिस ने आज जारी एक बयान में कहा,

"कंपनी के निदेशक मंडल ने रंगनाथ का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। वह अपने पद पर 16 नवंबर तक बने रहेंगे। निदेशक मंडल अपने सीएफओ की तलाश करेगी।"

बताया जा रहा है कि रंगनाथ ने नए क्षेत्रों में अवसरों की तलाश के लिए इस्तीफा दिया है। रंगनाथ ने कहा कि उन्होंने 10.9 अरब डॉलर मूल्य वाली वैश्विक कंपनी में 18 सालों से ज्यादा समय तक काम किया है और पिछले तीन सालों से वह कंपनी में सीएफओ के महत्वपूर्ण पद पर थे।

कंपनी की विज्ञप्ति के मुताबिक रंगनाथन ने कहा है कि वे प्रतिष्ठित फर्म का सीएफओ के रूप में सेवा करने का अवसर देने के लिए आभारी हैं। उन्हें यह भी गर्व है कि इसके महत्वपूर्ण चरण के दौरान, कंपनी ने मजबूत वित्तीय परिणाम दिया, अपनी प्रतिस्पर्धी स्थिति को मजबूत किया और अपने हितधारकों के मूल्य को बढ़ाया।

रंगनाथ (55) पिछले छह सालों में कंपनी को छोड़कर जानेवाले तीसरे सीएफओ हैं। इससे पहले सीएफओ वी. बालाकृष्णन को पदोन्नत करके निदेशक मंडल में शामिल कर लिया और कंपनी के बैक ऑफिस ऑपरेशन (इंफोसिस बीपीओ) का 2012 के अक्टूबर में प्रमुख बना दिया गया।

बालाकृष्णन ने इसके बाद 2013 के दिसंबर में कंपनी छोड़ दी थी।

सीएफओ के योगदान पर कंपनी के सह-संस्थापक और निदेशक मंडल के अध्यक्ष नंदन नीलेकणी ने कहा कि रंगनाथ ने कंपनी के विकास और सफलता में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

नीलेकणी ने कहा,

"अपने 18 साल के लंबे करियर में मैंने रंगनाथ को नेतृत्व की भूमिका में देखा, उन्होंने विशेष योग्यता के साथ परिणाम दिए। उनके सीएफओ के कार्यकाल के दौरान कंपनी ने लचीला वित्तीय प्रदर्शन किया, पूंजी आवंटन नीति लागू की और उन्नत मूल्यवर्धन को लेकर हितधारकों का सम्मान अर्जित किया।"

कंपनी के मुख्य कार्यकारी सलिल पारेख ने कहा कि वह पिछली कुछ तिमाहियों से कंपनी की रणनीतिक दिशा को लेकर रंगनाथ के साथ मिलकर काम कर रहे थे।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।