अनिद्रा के विषय में जानकारी, जिसे आपको जानना जरूरी है

अनिद्रा एक नींद विकार है जो दुनिया भर के लाखों लोगों को नियमित रूप से प्रभावित करता है। अनिद्रा का प्रभाव विनाशकारी हो सकता है।...

अनिद्रा के विषय में जानकारी, जिसे आपको जानना जरूरी है

Insomnia: Everything you need to know

अनिद्रा एक नींद विकार है जो दुनिया भर के लाखों लोगों को नियमित रूप से प्रभावित करता है। संक्षेप में, अनिद्रा वाले व्यक्तियों को नींद आना या सोना मुश्किल लगता है। अनिद्रा का प्रभाव विनाशकारी हो सकता है।

अनिद्रा के लक्षण

Symptoms of insomnia

अनिद्रा के आम तौर पर लक्षण हैं दिन में नींद और सुस्ती आना, मानसिक रूप से और शारीरिक रूप से स्वस्थ होने की सामान्य भावना आना। मूड स्विंग्स, चिड़चिड़ाहट, और चिंता अनिद्रा के आम संबंधित लक्षण हैं।

Healthy Sleep, Sleep Disorders

किसको होता है अनिद्रा रोग

Who gets insomnia??

यू.एस. नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसन पर उपलब्ध एक दस्तावेज के मुताबिक अनिद्रा रोग आम बीमारी है, यह पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं को अधिक प्रभावित करती है। यह किसी भी उम्र में हो सकती है।

आपको अनिद्रा का उच्च जोखिम है, यदि आपको -

बहुत तनाव है;

उदास हैं अन्य भावनात्मक संकट जैसे पति या पत्नी की मृत्यु हो चुकी है, तलाकशुदा हैं;

रात में काम करते हैं या तात की शिफ्ट में ड्यूटी अधिक लगती है,

एक निष्क्रिय जीवनशैली जीते हैं।

मेडिकल न्यूज़ टुडे पर एक लेख के मुताबिक अक्सर, अनिद्रा बीमारी या जीवन शैली जैसे माध्यमिक कारण के कारण होती है।

अनिद्रा के कारणों में मनोवैज्ञानिक कारक, दवाएं, और हार्मोन के स्तर शामिल हैं।

अनिद्रा के लिए उपचार चिकित्सा या व्यवहार हो सकता है।

बेडरूम में मीडिया प्रौद्योगिकी

Media technology in the bedroom

अनिद्रा से बचने के लिए सबसे पहले अपने बेडरूम से टीवी, लैपटॉप, कम्प्यूटर या  अन्य मीडिया प्रौद्योगिकी हटाएं।

वयस्कों और बच्चों में कई छोटे अध्ययनों में सुझाव दिया गया है कि सोने से पहले टेलीविजन और स्मार्टफोन से प्रकाश के संपर्क में आने से प्राकृतिक मेलाटोनिन का स्तर प्रभावित हो सकता है जो सोने के लिए समय बढ़ा सकता है और अनिद्रा का खतरा पैदा हो सकता है।

इसके अलावा, रेंससेलर पॉलिटेक्निक संस्थान द्वारा किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि बैकलिट टैबलेट कंप्यूटर नींद पैटर्न को प्रभावित कर सकते हैं। इन अध्ययनों से पता चलता है कि बेडरूम में तकनीक अनिद्रा को खराब कर सकती है, जिससे अधिक जटिलताओं का कारण बनता है।

नोट - यह समाचार किसी भी हालत में चिकित्सकीय परामर्श नहीं है। यह समाचारों में उपलब्ध सामग्री के अध्ययन के आधार पर जागरूकता के उद्देश्य से तैयार की गई रिपोर्ट मात्र है। आप इस समाचार के आधार पर कोई निर्णय कतई नहीं ले सकते। स्वयं डॉक्टर न बनें किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लें।)

ख़बरें और भी हैं काम की

नींद न आने से मुक्ति के घरेलू नुस्खे

आप भी रात के समय खा रहे हैं जंक फूड तो दे रहे हैं अनिद्रा, मोटापे समेत कई बीमारियों को दावत

छाती में इन्फेक्शन : रहें सावधान

क्या है टाइप 2 मधुमेह की दवा

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।