आईएस के समर्थन में इस्राईली युद्धक विमानों का सीरिया में हमला

पिछले शनिवार दमिश्क के इंटरनेश्नल एयरपोर्ट को निशाना बनाया था इस्राईल ने...

आईएस के समर्थन में इजरायली युद्धक विमानों का सीरिया में हमला

नई दिल्ली, 18 सितंबर। सीरिया के पश्चिमोत्तरी नगर लाज़किया में इस्राईली युद्धक विमानों के हवाई हमला करने की ख़बरें हैं। यह हमला लेबनान की वायु सीमा से आने वाले इस्राईली युद्धक विमानों द्वारा किया गया है।

पार्स टुडे ने सीरियाई सेना के मंगलवार, तड़के जारी एक बयान के हवाले से बताया है कि

इस्राईली युद्धक विमानों ने लाज़किया में एक उद्योगिक शोध व तकनीक केन्द्र को निशाना बनाया है जिससे केन्द्र की इमारत को नुक़सान पहुंचा और दो लोग शहीद हो गये।

सीरियाई सेना के बयान में बताया गया है कि ज़ायोनी शासन, इस प्रकार के हमलों द्वारा विभिन्न मोर्चों में पराजित होने वाले आतंकवादियों का इदलिब में हौसला बढ़ा रहा है।

बयान में कहा गया है कि इन हमलों से यह पूरी तरह से सिद्ध हो जाता है कि इस्राईल किस प्रकार से सीरिया में सक्रिय आतंकवादियों का समर्थन कर रहा है लेकिन इस्राईली हमलों से, देश से आतंकवादियों को जड़ से उखाड़ने के सीरियाई सेना के संकल्प पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

पिछले शनिवार दमिश्क के इंटरनेश्नल एयरपोर्ट को निशाना बनाया था इस्राईल ने

इस्राईल ने पिछले शनिवार को भी दमिश्क के इंटरनेश्नल एयरपोर्ट को मिसाइलों से निशाना बनाया था । इस हमले के दौरान सीरियाई सेना ने कई मिसाइलों को नष्ट कर दिया था।

ख़बर के मुताबिक इस्राईल ने अब तक सीरिया के आतंकवादियों के समर्थन के लिए दसियों बार सीरियाई सेना पर हमले किये हैं और इन में से कई हमले लेबनान की वायु सीमा का उल्लंघन करके, किये जाते हैं।

ख़बर के मुताबिक इस्राईल की सेना ने 4 सितम्बर को अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि गत 18 महीनों के दौरान, उसने ने सीरिया में 200 से अधिक स्थलों को निशाना बनाया है।

मुंबई के सामाजिक कार्यकर्ता फिरोज़ मिथिबोरवाला ने एक ख़बर का लिंक शेयर करते हुए ट्वीट किया है कि सीरिया में इस्लामिक विध्रोही इजरायल से मासिक वेतन ले सकते हैं। वे मुस्लिमों के हत्यारे अमेरिकी नेतृत्व वाले पश्चिम से सैकड़ें मिलियन डॉलर की मदद ले सकते हैं।

France delivered arms to Syrian rebels, Hollande confirms

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।