जज लोया की मौत : कांग्रेस ने कहा फैसले से सर्वोच्च न्यायालय पर उठेंगे सवाल

​​​​​​​यदि जज लोया की मौत स्वाभाविक थी तो भाजपा और उसके लोगों में इतनी घबराहट क्यों है - सुरजेवाला...

यदि जज लोया की मौत स्वाभाविक थी तो भाजपा और उसके लोगों में इतनी घबराहट क्यों है - सुरजेवाला

 नई दिल्ली 19 अप्रैल। जज बी एच लोया मामले में सर्वोच्च न्यायालय के फैसले पर ‘सम्मानपूर्वक’ असहमति जताते हुए कांग्रेस ने न्यायपालिका की स्वतंत्रता सुनिश्चित करने के लिए उनकी मौत के कारणों का पता लगाने के वास्ते पूरे मामले की सर्वोच्च न्यायालय की निगरानी में स्वतंत्र जांच की मांग दोहरायी।

यहां पार्टी मुख्यालय में एक प्रेस कांफ्रेंस में कांग्रेस के संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इस फैसले के मद्देनजर आज के दिन को देश का इतिहास का दुखद दिन बताया और कहा कि न्यायालय के फैसले से न्यायमूर्ति लोया की मौत से जुड़े तमाम सवाल अनुत्तरित रह गये हैं।

सुरजेवाला ने जज लोया की मौत से जुड़ी परिस्थितियों का सिलसिलेवार ब्यौरा देकर दस सवाल उठाये और कहा कि इससे जुड़े सबूत विरोधाभासी हैं। इसके बावजूद इस मामले की कभी जांच नहीं हुई। बिना जांच के इस निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सकता है कि उनकी मौत स्वाभाविक थी।

कांग्रेस नेता ने कहा कि कांग्रेस न्यायपालिका का सम्मान करती है लेकिन इस फैसले पर वह सम्मानपूर्वक अपनी असहमति व्यक्त करती है।

उन्होंने कहा कि यदि न्यायाधीश राजनेताओं और अपराधियों के खिलाफ निष्पक्ष एवं निर्भीक फैसले नहीं करेंगे और सबूतों एवं तथ्यों के आधार पर बिना पक्षपात और बिना डरे फैसला नहीं करेंगे तो देश का लोकतंत्र खतरे मे पड़ जाएगा।

बता दें सीबीआई जज बीएच लोया सोहराबुद्दीन फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई कर रहे थे, जिसमें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह आरोपी थे।

सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि भाजपा नेता राजनीतिक फायदा लेने के लिए सर्वोच्च न्यायालय के फैसले की गलत व्याख्या कर रहे हैं जो निंदनीय है। यह अत्यंत दुखदायी है कि भाजपा जज की मौत पर सस्ती राजनीति पर उतारू है।

सुरजेवाला ने कहा यदि जज लोया की मौत स्वाभाविक थी तो भाजपा और उसके लोगों में इतनी घबराहट क्यों है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आगे बढ़कर यह कहना चाहिए था कि इस मामले में भाजपा अध्यक्ष का नाम आ रहा है इसलिए वह पूरे मामले की सर्वोच्च न्यायालय की निगरानी में जांच का आदेश देते हैं।

सुरजेवाला ने कहा कि जब भाजपा के शीर्ष पद पर बैठे व्यक्ति इस मामले में आरोपी हैं और सत्ता में बैठे लोग जांच के विरोध मे लामबंद होते हैं तो इसे लेकर संशय एवं आशंकाएं और प्रबल हो जाती हैं।

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।