कर्नाटक निकाय चुनाव : बुरी तरह हार रही भाजपा, कांग्रेस- जेडी-एस बहुत आगे, लोकसभा चुनाव से पहले फिर फेल हुई मोदी लहर

कर्नाटक के 105 शहरी स्थानीय निकाय (यूएलबी) के लिए हो रही मतगणना में अभी तक प्राप्त परिणाम/ रुझान के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ रहा है, जबकि कांग्रेस- जेडी-एस बहुत आगे है

हस्तक्षेप डेस्क
Updated on : 2018-09-03 13:59:45

कर्नाटक निकाय चुनाव : बुरी तरह हार रही भाजपा, कांग्रेस- जेडी-एस बहुत आगे, लोकसभा चुनाव से पहले फिर फेल हुई मोदी लहर

नई दिल्ली, 3 सितंबर। कर्नाटक के 105 शहरी स्थानीय निकाय (यूएलबी) के लिए हो रही मतगणना में अभी तक प्राप्त परिणाम/ रुझान के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ रहा है, जबकि कांग्रेस- जेडी-एस बहुत आगे हैं। निर्दलीय भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।

राज्य चुनाव आयोग (एसईसी) द्वारा अपनी वेबसाइट पर घोषित नतीजे के मुताबिक, पूर्वाह्न 11.45 बजे तक कांग्रेस राज्य में 814 शहरी निकाय सीट जीतकर 52 सीटों पर आगे चल रही है, जबकि भाजपा 762 सीटें जीत चुकी है।

अब तक कुल 2,709 सीटों में से 2,171 सीटों के परिणाम घोषित किए गए हैं। जहां 31 अगस्त को शहरी निकाय चुनाव हुए थे।

पूर्वाह्न 11.45 बजे तक जनता दल-सेक्युलर (जेडी-एस) ने अब तक 300 सीटों पर जीत हासिल की है जबकि निर्दलीय उम्मीदवारों ने 265 सीटें जीती हैं।

राज्य की 29 नगरपालिकाओं, 53 टाउन नगर पालिकाओं और 23 टाउन पंचायतों के 2,633 वाडरे में और तीन नगर निगमों के 135 वार्डों में मतदान हुआ।

निकाय चुनावों के लिए राज्य में 67.5 प्रतिशत मतदाताओं मे मतदान किया।

कुल 8,340 उम्मीदवार मैदान में हैं। शहरी निकाय चुनावों में में कांग्रेस के 2,306 उम्मीदवार, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के 2,203 और जनता दल-सेकुलर (जेडी-एस) के 1,397 मैदान में हैं जबकि 814 शहर निगमों में चुनाव लड़ रहे हैं, जिनमें कांग्रेस से 135, भाजपा से 130 और जेडी-एस से 129 उम्मीदवार शामिल हैं।

साल 2013 में 4,976 सीटों पर शहरी निकाय चुनाव हुए थे। कांग्रेस ने 1,960 सीटें जीती थीं, जबकि बीजेपी और जेडी-एस ने दोनों ने 905 सीटें जीती थीं और निर्दलियों ने 1,206 सीटें जीती थीं।

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

rame>

संबंधित समाचार :