'कुंवारा है पर हमारा है', स्लैपस्टिक कॉमेडी की दुनिया में एक अपवाद है - रविश देसाई

'कुंवारा है पर हमारा है', स्लैपस्टिक कॉमेडी की दुनिया में एक अपवाद है - रविश देसाई...

न्यूज हेल्पलाइन द्वारा, मुंबई - 29 दिसंबर, 2017 टेलीविजन अभिनेता रविश देसाई ने मुंबई में बुधवार को बिग मैजिक के शो 'कुंवारा है पर हमारा है' के सेट पर मीडिया से बातचीत की। मीडिया की बातचीत के दौरान, रवीश ने कहा कि वह स्लैपस्टिक कॉमेडी नहीं करना चाहते थे, लेकिन 'कुंवारा है पर हमारा है' उस शैली के लिए अपवाद था।

'कुंवारा है पर हमारा है' के बारे में बात करते हुए, रविश ने कहा,

"हम अक्सर टेलीविजन पर महिला केंद्रित शोज़ देखते हैं क्योंकि हमा टेलीविज़न ऑडियंस महिला प्रधान हैं, इसलिए यह मेरे लिए एक अच्छा अवसर था जहां पूरा शो एक आदमी के चारों ओर घूमता हैं, जिस का नाम 'मानव' है। मुझे वास्तव में शो की संकल्पना पसंद थी और मैं बहुत लंबे समय से कॉमेडी करना चाहता था, लेकिन हम देखते हैं कि कई कॉमेडी शो आम तौर पर स्लैपस्टिक शैली के अंतर्गत आते हैं और इस तरह की कॉमेडी ऑनस्क्रीन पर बड़ी ही बुरी और जवर्दस्ती टाइप की दिखाई देती है l

इसलिए मैं ऐसा कुछ नहीं करना चाहता था क्योंकि मुझे लगता है की ऑनस्क्रीन इस तरह की कॉमेडी बिलकुल अच्छी नहीं लगती, लेकिन मुझे लगता है कि 'कुंवारा है पर हमारा है' इस शैली के लिए अपवाद था। इस शो ने मुझे आश्वस्त किया कि शो का कंटेंट वास्तव में अच्छा है"

शो में उनके चरित्र के बारे में बात करते हुए, रविश ने कहा,

"मेरा चरित्र कई अटपटे मामलों में फंस जाता है क्योंकि वह अपने माता-पिता से प्यार करता है और उन्हें छोड़ना नहीं चाहता।"

न्यू ईयर स्पेशल एपिसोड की शूटिंग के बारे में रविश ने कहा,

"छोटे शहरों में, लोगों में नए साल के उत्सव को ले कर काफी उत्साह होता है, इसलिए हम उस पहलू पर ध्यान केंद्रित करने की कोशिश कर रहे हैं l मुझे लगता है कि यह संपूर्ण एपिसोड बहोत ही खूबसूरती से फिल्माया गया है। बहुत सारी सीटुएशनल कॉमेडी हैं लेकिन अंत में, यह शो अपने कंटेंट के माध्यम से सुंदर संदेश देता है"

शो के निर्माता, संकेत और सौरभ वांजारा के साथ काम करने की बात करते हुए, रविश ने कहा,

"यह बहुत अच्छा है क्योंकि मैंने स्टार प्लस पर संकेत सर के साथ अपना पहला शो किया था, इसलिए मैंने समय के साथ संकेत सर को जान लिया है। और मुझे पूरा विश्वास था की मै ये किरदार को अच्छे तरीके से खेल सकता हूं क्योंकि प्रारंभिक एपिसोड जो मुझे सुनाए गए थे वो काफी शानदार थे। जब हम रिहर्सल्स कर रहे थे तो हम खूब हंस रहे थे, और इसलिए हमने यही मैजिक ऑनस्क्रीन जोड़ने की कोशिश की है"

'कुंवारा है पर हमारा है' एक भारतीय पारंपरिक परिवार के बैचलर बन्दे की कहानी हैं जो मुख्य रूप से अपने परिवार को खुश रखते हुए अपनी शादी के संघर्ष में जुटा हुआ है.

'कुंवारा है पर हमारा है' बिग मैजिक पर 14 नवंबर से प्रसारित हो रहा है l

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।