समान काम के समान वेतन का कानून खत्म करने में लगी मोदी सरकार

आज पूंजी की तानाशाही का दौर चल रहा है। मोदी की सरकार कारपोरेट पूंजी चहेती बनी हुई और उसकी सेवा के लिए श्रम के बूते जिदंगी जीने वालों पर हमला कर रही है।...

हाइलाइट्स

जनपद के श्रमिक संगठनों ने बैठक कर बनायी मजदूर संघर्ष समिति

अवधराज सिंह समन्वयक और सुरेन्द्र पाल प्रवक्ता व लल्लन राय संरक्षक बनाए गए

18000 रू0 न्यूनतम मजदूरी पर चलेगा अभियान

अनपरा, सोनभद्र (उत्तर प्रदेश) 25 जून 2017। मोदी सरकार द्वारा ठेका श्रमिक कानून की धारा 25 को समाप्त कर समान काम के समान वेतन और न्यूनतम वेतन पाने के कानूनी अधिकार को संविदा श्रमिकों से छीनने की कोशिश पर गहरा आक्रोश व्यक्त करते हुए इसके खिलाफ बड़ा आंदोलन करने का निर्णय आज अनपरा में यू0 पी0 बिजली बोर्ड इम्पलाइज यूनियन (सीटू) कार्यालय पर जनपद के विभिन्न श्रमिक संगठनों की बैठक में लिया गया।

बैठक में सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश की अध्यक्षता में बने सातवें वेतन आयोग की 18000 रू0 न्यूनतम वेतन करने की अनुशंसा को लागू कराने, हर श्रमिक को ग्रेच्युटी लाभ देने और अनपरा व ओबरा में ईएसआई अस्पताल निर्मित कराने के सवालों पर बड़ा जनअभियान चलाने का निर्णय हुआ। इसके तहत मजदूरों में व्यापक अभियान चलाते हुए जुलाई माह में उपश्रमायुक्त कार्यालय पर घरना देने और अगस्त माह में बड़ा सम्मेलन करने का फैसला लिया गया।

बैठक में हिण्डालकों के कृपाशंकर पनिका, शंकर दयाल बैसवार, रेनूसागर के नेता कुलदीप पाल, अनपरा के तेजधारी गुप्ता, ओबरा के मोहन प्रसाद, आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन की निर्मला सिंह, मिड़ डे मील कर्मचारी यूनियन की कुसुम, आशा कर्मचारी यूनियन के शिव कुमार उपाध्याय, मजदूर एकता संघ के अजीत कुमार सिंह, डाला के राजू चौधरी, ग्रामीण मजदूर मंच के रमेश सिंह खरवार को मजदूर संघर्ष समिति का संयोजक चुना गया।

संयोजक मण्डल का संरक्षक एटक के जिलाध्यक्ष लल्लन राय, समन्वयक सीटू के जिलाध्यक्ष का0 अवधराज सिंह व प्रवक्ता ठेका मजदूर यूनियन के जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र पाल को बनाया गया है।

बैठक में मौजूद यू0 पी0 वर्कर्स फ्रंट के प्रदेश अध्यक्ष दिनकर कपूर ने कहा कि आज पूंजी की तानाशाही का दौर चल रहा है। मोदी की सरकार कारपोरेट पूंजी चहेती बनी हुई और उसकी सेवा के लिए श्रम के बूते जिदंगी जीने वालों पर हमला कर रही है। कानून द्वारा प्रदत्त अधिकारों को खत्म किया जा रहा है। आज इसके खिलाफ एकताबद्ध संघर्ष वक्त की जरूरत है। मजदूरों की जिदंगी की हिफाजत और अधिकारों के लिए संघर्ष समिति काम करेगी।

बैठक की अध्यक्षता आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन की नेता निर्मला सिंह ने की। बैठक में सीटू के प्रदेश मंत्री का0 विशम्भर सिंह, आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन की प्रदेश कोषाध्यक्ष का0 बबिता, अवधराज सिंह, सुरेन्द्र पाल, कुलदीप पाल, राम नरेश यादव, तेजधारी गुप्ता, शंकर दयाल, कुसुम देवी, प्रतिभा पाण्डेय, रमेश सिंह खरवार, मीना देवी, केदार सिंह, राजीव कुमार पाण्डेय, मोहन प्रसाद, नागेन्द्र चौहान, शिव कुमार उपाध्याय, केदार सिंह आदि मौजूद रहे।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।