मायावती ने फिर दिए भाजपा से नजदीकी के संकेत, किया साफ कांग्रेस के साथ कोई गठबंधन नहीं

मायावती ने एक बार फिर भाजपा से अपनी नजदीकी के संकेत दे दिए हैं। आज यहां उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी कांग्रेस के साथ किसी भी राज्य में गठबंधन नहीं करेगी।...

नई दिल्ली, 12 मार्च। लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) से पूर्व विपक्षी महागठबंधन (Opposition coalition) की योजना को झटका देते हुए बहुजन समाज पार्टी - Bahujan samaj party (बसपा) की अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती (Uttar Pradesh's former Chief Minister Mayawati) ने एक बार फिर भाजपा से अपनी नजदीकी के संकेत दे दिए हैं। आज यहां उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी कांग्रेस के साथ किसी भी राज्य में गठबंधन नहीं करेगी।

सुश्री मायावती ने यह टिप्पणी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक के बाद की।

मायावती ने मीडिया से कहा,

"बैठक के दौरान यह दोहराया गया कि बसपा का किसी भी राज्य में कांग्रेस के साथ न तो कोई गठबंधन होगा और न ही कोई आपसी समझ ही।"

बसपा ने उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और लोकदल के साथ एक गठबंधन किया है।

मायावती ने कहा कि लोकसभा चुनाव में कई राजनीतिक दल बसपा से गठबंधन के इच्छुक हैं, लेकिन मामूली चुनावी फायदे के लिए अपनी विचारधारा के खिलाफ कोई कदम उठाना पार्टी के हित में नहीं है।

इससे पहले पांच राज्यों के चुनाव में यह आरोप लगे थे कि बसपा भाजपा की मदद करने के लिए ही इन राज्यों में चुनाव लड़ रही है। बसपा की वजह से इन राज्यों में कांग्रेस का नुकसान हुआ।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।