क्या आप जानते हैं मोदी सरकार ने हज यात्रा पर जीएसटी कम कर दी है, नहीं जानते तो ये खबर पढ़ें

क्या आप जानते हैं मोदी सरकार ने हज यात्रा पर जीएसटी कम कर दी है, नहीं जानते तो ये खबर पढ़ें...

एजेंसी

नई दिल्ली, 16 जनवरी। केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी Central Minority Affairs Minister Mukhtar Abbas Naqvi ने बुधवार को कहा कि आजादी के बाद पहली बार भारत से 2,300 से भी अधिक मुस्लिम महिलाएं वर्ष 2019 के दौरान 'मेहरम' (पुरुष सहयोगी) के बिना हज यात्रा पर जाएंगी। अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय Minority Affairs Ministry के हज प्रभाग के नए कार्यालय परिसर का नई दिल्ली के आर.के. पुरम में उद्घाटन करते हुए नकवी ने कहा कि देश के विभिन्न राज्यों में रहने वाली 2340 मुस्लिम महिलाओं ने मेहरम के बिना हज 2019 पर जाने के लिए आवेदन किया है। इस वर्ष भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी Prime Minister Narendra Modi के निर्देश पर अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ने लॉटरी प्रणाली के बिना ही इन महिलाओं को हज पर भेजने की व्यवस्था arrangement for sending women to Haj की है।

केन्द्र की मोदी सरकार ने पिछले वर्ष पहली बार 'मेहरम' के बिना महिलाओं के हज यात्रा पर जाने पर लगे प्रतिबंध को हटाया था। इसके परिणामस्वरूप बिना किसी पुरुष सहयोगी के भारत की लगभग 1300 मुस्लिम महिलाएं हज 2018 पर गई थीं। इन महिलाओं को लॉटरी प्रणाली से छूट दी गई थी। उन्होंने कहा कि हज 2019 के लिए लगभग 2.67 लाख आवेदन प्राप्त हुए हैं जिनमें से 1,64,902 आवेदन ऑनलाइन प्राप्त हुए हैं।

नकवी ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार भारत से रिकॉर्ड संख्या में मुस्लिम हज यात्रा 2018 पर गए थे और वह भी बिना किसी 'सब्सिडी' के ही वे हज यात्रा पर गए थे। भारत से रिकॉर्ड संख्या में 1,75,025 मुस्लिम हज यात्रा 2018 पर गए थे जिनमें लगभग 48 प्रतिशत महिलाएं शामिल हैं।

नकवी ने कहा कि हज यात्रा पर जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) को 18 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत कर दिया गया है जिससे हज यात्रा 2019 के दौरान हज यात्रीगण लगभग 113 करोड़ रुपये की बचत कर सकेंगे। हज यात्रा पर जीएसटी घटने की बदौलत विभिन्न स्थानों से हवाई यात्रा के किरायों में उल्लेखनीय कमी सुनिश्चित होगी।

इस वर्ष श्रीनगर से हवाई किराये में 11377.07 रुपये और अहमदाबाद से हवाई किराये में 7305.95 रुपये की कमी होगी। इसी तरह औरंगाबाद, दिल्ली, गया, गुवाहाटी, रांची, कोलकाता और हैदराबाद से हवाई किराया क्रमश: 9373.68, 7967.62, 11027.85, 13049.63, 11946.84, 9787.22 एवं 7204.87 रुपये घट जाएगा।

नकवी ने कहा कि हज प्रक्रिया को पूरी तरह ऑनलाइन/डिजिटल कर देने से समूची हज प्रक्रिया को पारदर्शी एवं हज यात्रियों के अनुकूल बनाने में मदद मिली है। अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ने सऊदी अरब हज वाणिज्य दूतावास, भारत की हज समिति और अन्य संबंधित एजेंसियों के सहयोग से हज यात्रा 2019 की तैयारियां निर्धारित समय से तीन माह पहले ही पूरी कर ली हैं, ताकि हज यात्रा इस वर्ष समस्त हज यात्रियों के लिए अत्यंत सुविधाजनक हो सके।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

The Modi government has reduced GST on Haj pilgrimage

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।