मप्र : विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा को तगड़ा झटका, नगरीय निकाय उपचुनाव में बुरी तरह हारी भाजपा

4 स्थानों पर हुए पार्षदों के उपचुनाव में कांग्रेस के नौ, भाजपा के चार और एक निर्दलीय निर्वाचित हुआ।...

मप्र : विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा को तगड़ा झटका, नगरीय निकाय उपचुनाव में बुरी तरह हारी भाजपा

भोपाल, 7 अगस्त। मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले हुए नगरीय निकाय उपचुनाव में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की बुरी तरह हार हुई है। 14 स्थानों पर हुए पार्षदों के उपचुनाव में कांग्रेस के नौ, भाजपा के चार और एक निर्दलीय निर्वाचित हुआ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, मंगलवार को हुई मतगणना में बुरहानपुर के नेपानगर, नीमच के सरवानिया महाराज, छिंदवाड़ा के न्यूटन खिलची, ग्वालियर के डबरा, छिंदवाड़ा के जुन्नारदेव, सिंगरौली के सिंगरौली, सतना के सतना, गुना के राघौगढ़ की नगरीय निकाय के एक-एक वार्ड में कांग्रेस के उम्मीदवार विजयी रहे।

वहीं दमोह नगर पालिका के एक वार्ड, मंदसौर के शामगढ़ के एक वार्ड, दतिया के एक वार्ड और अनूपपुर के बिजुरी के एक वार्ड से भाजपा उम्मीदवार जीते। इसके अलावा भिंड के गोरमी से निर्दलीय उम्मीदवार ने जीत दर्ज की। मतदान तीन अगस्त को हुआ था।

इसके साथ ही दो नगरीय निकायों में अध्यक्ष को पद से वापस बुलाने के लिए हुए निर्वाचन में खरगौन जिले के नगर परिषद करही पांडल्याखुर्द में भाजपा की आशा प्रेमचंद्र बासुरे विजयी रहीं। बालाघाट जिले की नगर परिषद लांजी में बहुजन समाज पार्टी की मीरा नानाजी समरीते विजयी रहीं। पहले भी यही अध्यक्ष थीं।

पंचायत निर्वाचन में एक जिला पंचायत सदस्य, 12 जनपद पंचायत सदस्य, 98 सरपंच पद के लिए भी मतगणना हुई। 12 जनपद पंचायत सदस्य में से आठ निर्विरोध और संरपच के लिए 21 प्रत्याशी निर्विरोध विजयी घोषित किए गए।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।