फोर्ब्स की ग्लोबल गेम चेंजर लिस्ट में मुकेश अंबानी अव्वल

फोर्ब्स की दूसरी वार्षिक ग्लोबल गेम चेंजर्स लिस्ट में ऐसे 25 बिजनेस लीडर्स को शामिल किया गया है। जो "यथास्थिति से संतुष्ट नही थे और उन्होंने अपने उद्योगों और विश्वभर में अरबों लोगों के जीवन को बदला है...

न्यूयॉर्क, 17 मई, रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी फोर्ब्स की 'ग्लोबल गेम चेंजर्स' की सूची में अव्वल रहें हैं।

इस लिस्ट में उन लोगों को स्थान दिया गया है जो ना केवल अपने उद्योगों को बदल रहे हैं बल्कि दुनिया भर के अरबों लोगों के जीवन को प्रभावित कर रहे हैं।

फोर्ब्स की दूसरी वार्षिक ग्लोबल गेम चेंजर्स लिस्ट में ऐसे 25 बिजनेस लीडर्स को शामिल किया गया है। जो "यथास्थिति से संतुष्ट नही थे और उन्होंने अपने उद्योगों और विश्वभर में अरबों लोगों के जीवन को बदला है।

फोर्ब्स के अनुसार इंटरनेट को आम जन तक पहुंचाने के अंबानी के गेम चेंजिंग प्रयासों की वजह से उन्हें लिस्ट में पहला स्थान मिला है।

तेल और गैस के क्षेत्र में दबदबा रखने वाले मुकेश अंबानी ने सस्ते दामों पर इंटरनेट की पेशकश कर देश के दूरसंचार बाजार में  धमाकेदार एंट्री की थी।

रिलायंस जियो का जिक्र करते हुए फोर्ब्स ने कहा कि छह महीने में 10 करोड़ ग्राहक हासिल कर, जियो ने टेलीकॉम सेक्टर में खलबली मचा दी। जिससे कॉन्सोलिडेशन को बढ़ावा मिला।

फोर्ब्स ने अंबानी को उद्धृत करते हुए कहा  "जो कुछ भी डिजिटल किया जा सकता है, उसे डिजिटल किया जा रहा है। भारत पीछे छूटना स्वीकार नही कर सकता"

फोर्ब्स ने कहा कि सूची में 25 बिजनेस लीडर्स ने रोजमर्रा के जीवन के अनगिनत पहलुओं को पुन: परिभाषित किया है। स्वास्थ्य से लेकर विदेश में रिश्तेदारों को पैसा भेजने तक।

फोर्ब्स ने कहा कि "हालांकि, कई कॉर्पोरेटस रिकार्ड मुनाफे के लिए सुर्खियों में हैं, लेकिन हमने सही मूवर्स और शेकर्स की पहचानने की कोशिश की। जो भविष्य की राह का निर्माण कर रहे हैं।"

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
क्या मौजूदा किसान आंदोलन राजनीति से प्रेरित है ?