'डीआईडी' स्टार पॉलसन ने स्माइल फ़ाउंडेशन के बच्चों के चेहरों पर हंसी लाने के लिए नहीं छोड़ी कोई कसर

आदमी चाहे जितना भी बड़ा हो जाए और कितनी ही कामयाबी क्यों न हासिल कर ले, उसे इंसानियत की जड़ों को न कभी भूलना चाहिए और न ही कभी छोड़ना चाहिए।...

एजेंसी
DID - Smile Foundation 3

आदमी चाहे जितना भी बड़ा हो जाए और कितनी ही कामयाबी क्यों न हासिल कर ले, उसे इंसानियत की जड़ों को न कभी भूलना चाहिए और न ही कभी छोड़ना‌ चाहिए। पॉलसन थॉमस भी ऐसी ही एक शख़्सियत का नाम है, जिन्होंने बेहद कम उम्र में कामयाबी हासिल की और जिन्हें ऊंचाइयां छूने के लिए किये जाने वाले संघर्ष की अहमियत अच्छी तरह से पता है। ऐसे में ज़रूरतमंदों के साथ ख़ुशियों के पल बिताना की पॉलसन की नीयत और तमाम कोशिशें तारीफ़ों की हकदार हैं।

पॉलसन की लम्बे समय से ख़्वाहिश थी कि वो स्माइल फाउंडेशन के बच्चों के साथ अपना जन्मदिन मनायें। उनकी मां ने उन्हें इस बात का सबक  दिया था कि अगर वो इस क़ाबिल हैं, तो उन्हें हमेशा ज़रूरतमंदों की मदद करनी चाहिए। इसे एक बेहतरीन किस्म की सोच नहीं तो और क्या कहेंगे? पॉलसन काफ़ी समय से चैरिटी करते रहे हैं और इस तरह के संगठानों को आर्थिक मदद पहुंचाने के अलावा वो समाज सेवा से भी जुड़े रहे हैं। ऐसे में फ़ाउंडेशन के बच्चों के प्रति उनका रवैया और सौम्य व्यवहार क़ाबिले-तारीफ़ ही कहा जायेगा। उन्होंने‌ अपना पूरा वक्त बच्चों के साथ ही बिताया। पॉलसन को उम्मीद है कि वो इस इवेंट के ज़रिये इन अनोखे बच्चों को शिक्षित करने में मदद कर पायेंगे।

पॉलसन का ताल्लुक केरल के एक छोटे से शहर से है। शुरुआत में डांस और एंटरटेनमेंट के प्रति अपने जुनून को ज़िंदा रखने के लिए उन्हें काफ़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। मगर कभी भी हार नहीं मानने की उनकी फ़ितरत ने अपना रंग दिखाया और उन्हें 'डांस इंडिया डांस' के सीज़न में ब्रेक मिल गया। इसके तुरंत बाद रेमो सर ने उन्हें अपनी फ़िल्म F.A.L.T.U. में कास्ट कर लिया। वो 'डांस के सुपरस्टार्स का भी एक पॉपुलर फ़ेस रहे। इसके अलावा, उन्होंने देश के पहले 3D डांसिंग फ़िल्म ABCD (एनी बडी कैन डांस) में भी एक्टिंग की। पॉलसन को दोनों फ़िल्मों में‌ अपने हंसाने वाले परफॉर्मेंस के लिए ख़ूब वाहवाही मिली। यही वजह है कि वो रेमो सर को दिल से चाहते हैं। पॉलसन का कहना है, "मेरे माता-पिता के बाद जिस शख़्स का मुझे सबसे ज़्यादा सहयोग मिला, वो रेमो सर हैं।" ऐसे में पॉलसन द्वारा अपनी कामयाबी का श्रेय रेमो सर को देना कोई हैरान करनेवाली बात नहीं है।

जब उनसे रेमो डिसूजा की अगली फिल्म 'रेस 3' के बारे में पूछा गया तो उन्होंने‌ इसकी जमकर तारीफ़ की। उन्होंने रेमो को अपनी शुभकामनाएं दीं क्योंकि वो न सिर्फ़ रेमो की इज़्ज़त करते हैं, बल्कि इस बात से भी अच्छी तरह से वाकिफ़ हैं कि रेमो सर हर प्रोजेक्ट पर किस कदर मेहनत करते हैं। उन्हें उम्मीद है कि जल्द ही उनकी और रेमो सर की मुलाकात होगी और ऐसा होने पर वो रेमो सर से अपने आनेवाले वेंचर्स के लिए आशीर्वाद ज़रूर लेंगे।

ये तो बस अभी शुरुआत है। इस जश्न से एक बात और बात साफ़ हो गयी कि वो और उनकी टीम जल्द ही एक म्यूज़िक वीडियो और अपना प्रोडक्शन हाउस लॉन्च करेंगे (फिलहाल इसकी तारीख़ और बाक़ी जानकारियां अभी नहीं बताईं गयीं हैं)। 

ख़ैर, ये कार्यक्रम बिना किसी दिक्कत के सफलतापूर्वक ढंग से हुआ। पॉलसन ने बात का ख़ास ख़्याल रखा था कि स्माइल फाउंडेशन के बच्चें इवेंट से जायें तो वो चेहरों पर मुस्कान और ऐसे तोहफे साथ लेकर‌ जायें जिसे वो हमेशा के लिए याद रखें। 

इस इवेंट का समापन बच्चों, उनकी टीम और ख़ुद पॉलसन के शानदार डांस परफॊर्मेंस से हुआ है। हम सभी की तरफ़ से इस नयी शुरुआत के लिए बहुत बहुत शुभकामनाएं।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।