सुनंदा पुष्कर केस में शशि थरूर को मिली नियमित जमानत

दिल्ली की एक स्थानीय अदालत ने आज कांग्रेस सांसद शशि थरूर को सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में नियमित जमानत दे दी।...

सुनंदा पुष्कर केस में शशि थरूर को मिली नियमित जमानत

नई दिल्ली, 7 जुलाई। दिल्ली की एक स्थानीय अदालत ने आज कांग्रेस सांसद शशि थरूर को सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में नियमित जमानत दे दी।

थरूर को दो दिन पहले ही अदालत ने अग्रिम जमानत दी थी।

थरूर अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल के समक्ष पेश हुए। उन्हें जून में समन जारी किया गया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जब थरूर के वकील ने नियमित जमानत की मांग के लिए याचिका दायर की तो अदालत ने कहा कि याचिका दाखिल करने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि उन्हें गुरुवार को सत्र अदालत पहले ही अग्रिम जमानत दे चुकी है।

मजिस्ट्रेट कोर्ट ने उनके मुचलके को स्वीकार कर लिया है।

पांच जुलाई को अग्रिम जमानत देते हुए सत्र न्यायालय ने उन्हें बिना मंजूरी के देश छोड़कर जाने, सबूतों से छेड़छाड़ नहीं करने और गवाहों को प्रभावित नहीं करने का आदेश दिया था।

अदालत ने मामले की अगली सुनवाई 26 जुलाई को सूचीबद्ध की है और दिल्ली पुलिस को आरोपपत्र और अन्य दस्तावेज की प्रतियां कांग्रेस नेता को देने का आदेश दिया है।

गौरतलब है कि सुनंदा पुष्कर (51) का 17 जनवरी 2014 को दिल्ली के होटल के एक कमरे में रहस्यमय परिस्थिति में शव मिला था।

अभियोजन पक्ष की आशंकाओं को खारिज कर दिया था अदालत ने

इससे पहले अदालत ने थरूर को अग्रिम जमानत देते हुए कहा था कि अभियोजन पक्ष की इन आशंकाओं का कोई आधार नहीं है कि थरूर विदेश भाग जाएंगे या गवाहों को प्रभावित करेंगे. अदालत ने ध्यान दिलाया कि जांच एजेंसी ने थरूर को गिरफ्तार नहीं किया और जब भी पुलिस ने जांच के लिए उन्हें तलब किया तो उन्होंने सहयोग दिया. उसने यह भी ध्यान दिलाया कि थरूर ने कभी न्याय तंत्र से बचने या दूसरे देश में बस जाने का प्रयास नहीं किया.

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।