वाराणसी में “सैकड़ों” जानें चली गयीं, और देश के “रहनुमा” दिल्ली में, कर्नाटक की जीत का “जश्न” मनाने में मस्त हैं

वाराणसी में “सैकड़ों” जानें चली गयीं, और देश के “रहनुमा” दिल्ली में, कर्नाटक की जीत का “जश्न” मनाने में मस्त हैं...

वाराणसी में सैकड़ोंजानें चली गयीं, और देश के रहनुमादिल्ली में, कर्नाटक की जीत का जश्नमनाने में मस्त हैं

नई दिल्ली, 16 मई। आध्यात्मिक गुरू और कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम् ने वाराणसी की दुर्घटना पर प्रधानमंत्री की अंवेदनशीलता पर करारा प्रहार किया है।

आचार्य प्रमोद कृष्णम् ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर लिखा

वाराणसी में “सैकड़ों” जानें चली गयीं, और देश के “रहनुमा” दिल्ली में, कर्नाटक की जीत का “जश्न” मनाने में मस्त हैं.

बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में आज एक निर्माणाधीन पुल गिरने से 18 लोगों की मौत हो गई जबकि 50 से ज्यादा लोग घायल हैं, परन्तु पीएम घायलों को देखने वाराणसीजाने के बजाय दिल्ली में कर्नाटक का जश्न मनाने पहुंचे, जिसको लेकर सोशल मीडिया पर गुस्सा है।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।