गलत निकला कपिल मिश्रा का आरोप, सामने आया आप को चंदा देने वाला

पहली बार 2 करोड़ का चंदा देने वाला 'फ़र्ज़ी कंपनियों' का मालिक सामने आया है।...

आप को चंदा देने वाले का खुलासा

डीबी लाइव

पिछले दिनों आम आदमी पार्टी से निलंबित विधायक कपिल मिश्रा ने आप विधायकों पर पार्टी फंडिंग में गड़बड़ी के गंभीर आरोप लगाए थे। साथ ही कुछ सबूत पेश करते हुए केजरीवाल को जेल भिजवाने की बात भी कही थी। लेकिन फंडिंग विवाद में अब नया मोड़ आ गया है।

पहली बार 2 करोड़ का चंदा देने वाला 'फ़र्ज़ी कंपनियों' का मालिक सामने आया है।

मामला आम आदमी पार्टी को 50-50 लाख रुपये के चेक चंदे में देने का है। पहली बार एक शख्स सामने आया है जिसका कहना है कि ये चारों कंपनियां जिनके नाम से आम आदमी पार्टी को 2 करोड़ रुपये का चंदा अप्रैल 2014 में मिला है वह कंपनियां फ़र्ज़ी नहीं हैं, बल्कि वो चारों कंपनियां उसकी अपनी हैं।

उत्तर पूर्वी दिल्ली के गंगा विहार में रहने वाले मुकेश शर्मा ने एक निजी समाचार चैनल एनडीटीवी इंडिया से कहा है कि ये चारों कंपनियां मेरी हैं. मैंने AAP को 2 करोड़ का चंदा दिया था. मैंने डिमांड ड्राफ़्ट बनवाकर चंदा दिया था.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक मुकेश शर्मा ने बताया कि वह राजनीतिक पचड़े में नहीं पड़ना चाहते थे, इसलिए जब यह मामला दो साल पहले उठा तब मीडिया के सामने नहीं आए।

एनडीटीवी इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक मुकेश शर्मा ने बताया है कि वो अरविंद केजरीवाल को नहीं जानते न उनसे मिले केवल चंदा देते समय पार्टी के सेक्रेटरी पंकज गुप्ता और खजांची संजू से मिले थे। उन्होंने इसलिए चंदा दिया क्योंकि उन्हें लगता था कि ये राजनीति में कुछ अच्छा करने आए हैं।

आपको बता दें कि कपिल मिश्रा और उनके सहयोगी ने आम आदमी पार्टी पर फ़र्ज़ी कंपनियों से 2 करोड़ का चंदा लेने का आरोप लगाया था और इस मामले में अभी तक कुछ सामने नहीं आ रहा था, न कंपनी का ही कोई अता-पता मिल रहा था, लेकिन यह पहली बार है कि किसी ने सामने आकर कहा है कि कंपनियां असली हैं और चंदा उसने दिया है।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
क्या मौजूदा किसान आंदोलन राजनीति से प्रेरित है ?