सर्वोच्च न्यायालय का वीवीपैट को लेकर दाखिल 21 विपक्षी दलों की याचिका पर चुनाव आयोग को नोटिस

Notice to EC on petition of 21 opposition parties filed with Supreme Court on VVPAT सर्वोच्च न्यायालय का वीवीपैट को लेकर दाखिल 21 विपक्षी दलों की याचिका पर चुनाव आयोग को नोटिस...

नई दिल्ली, 15 मार्च। आने वाले दिनों में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं क्योंकि आगामी आम चुनावों में परिणामों की घोषणा से पहले वीवीपीएटी के साथ 50 प्रतिशत ईवीएम परिणाम मिलान और क्रॉसचेक के मामले में सर्वोच्च न्यायालय ने चुनाव आयोग को नोटिस जारी करते हुए अगली सुनवाई की तारीख 25 मार्च निर्धारित की है।

Notice to EC on petition of 21 opposition parties filed with Supreme Court on VVPAT

21 विपक्षी दलों की याचिका, जिसमें आगामी आम चुनावों में परिणामों की घोषणा से पहले वीवीपीएटी के साथ 50 प्रतिशत ईवीएम परिणाम मिलान और क्रॉसचेक किए के चुनाव आयोग को निर्देश दिए जाने का अनुग्रह किया गया था, पर सर्वोच्च न्यायालय ने चुनाव आयोग को नोटिस जारी किया है।

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने चुनाव आयोग को अदालत की सहायता के लिए एक वरिष्ठ अधिकारी की प्रतिनियुक्ति करने के लिए कहा और मामले की अगली सुनवाई के लिए 25 मार्च निर्धारित कर दी।

विस्तृत समाचार की प्रतीक्षा है।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।