पैंथर्स पार्टी की पत्थरबाजों से बिना हिंसा के अपनी आवाज उठाने की अपील 

बीते दिनों पत्थरबाजों के पत्थर से एक फौजी की मौत हो गयी, लेकिन किसी राजनीतिक दल और ना ही किसी राजनीतिज्ञ की मौत पर दुख प्रकट किया और किसी ना ही उसकी भर्त्सना की...

पैंथर्स पार्टी की पत्थरबाजों से बिना हिंसा के अपनी आवाज उठाने की अपील 

Panthers party appeals to stone-palters to raise their voices without violence

पैंथर्स पार्टी ने शहीद होने वाले फौजी को श्रद्धांजलि दी

पत्थरबाजों से बिना हिंसा के अपनी आवाज उठाने की अपील 

जम्मू, 29 अक्तूबर। नेशनल पैंथर्स पार्टी के मुख्य संरक्षक प्रो. भीम सिंह ने आज पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर में एक फौजी के पत्थरबाजों के पत्थर से शहीद हो जाने पर दुख व्यक्त करते हुए मीडिया की खामोशी पर आश्चर्य प्रकट किया।

प्रो. भीम सिंह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में सभी समस्याओं और मुश्किलों के बावजूद मीडिया अपनी भूमिका बहुत अच्छे से तरीके से निभा रहा है और राज्य में हिंसा, मौतें और अन्य मामलों को अच्छी तरीके से पेश करता है। उन्होंने कहा कि बीते दिनों पत्थरबाजों के पत्थर से एक फौजी की मौत हो गयी, लेकिन किसी राजनीतिक दल और ना ही किसी राजनीतिज्ञ की मौत पर दुख प्रकट किया और किसी ना ही उसकी भर्त्सना की। उन्होंने कहा कि यह बहुत दुखद है।

उन्होंने नौजवानों और उनके समर्थकों से कहा कि उन्हें इस फौजी की मौत पर अफसोस जाहिर करना चाहिए, क्योंकि कानून में इस तरह की अमानवीय कृत्य को माफ नहीं किया जा सकता।

उन्होंने मीडिया से अपील की कि वे जिस साहस और वचनबद्धता के साथ जम्मू-कश्मीर में अपना कर्तव्य अदा कर रहा है, उसे सभी समस्याओं के बावजूद अदा करते रहना चाहिए और राजनीतिक दलों से नेताओं से भी उम्मीद जाहिर की कि वे भी हर तरह की हिंसा की भर्त्सना करेंगे, चाहे वह किसी भी तरफ से हो।

    उन्होंने शहीद होने वाले फौजी को अपनी और पैंथर्स पार्टी की तरफ से श्रद्धांजलि अर्पित की और उसके परिवार के साथ संवेदनाएं प्रकट की।

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।