पुलिस ने हार्दिक पटेल को अस्पताल पहुंचाया पैंथर्स सुप्रीमो ने गुजरात दौरा रद्द किया

गुजरात के पाटीदार नेता श्री हार्दिक पटेल को आज हड़ताल के 14वें दिन स्वास्थ्य खराब होने के कारण पुलिस ने उन्हें जबर्दस्ती अस्पताल पहुंचा दिया।...

पुलिस ने हार्दिक पटेल को अस्पताल पहुंचाया

पैंथर्स सुप्रीमो ने गुजरात दौरा रद्द किया 

गुजरात के पाटीदार नेता श्री हार्दिक पटेल को, जो 25 अगस्त, 2018 से किसानों और गुजरात के लोगों की मांगों पर अहमदाबाद के नजदीक अपने फार्म हाऊस में भूखहड़ताल पर बैठे हुए थे, आज हड़ताल के 14वें दिन स्वास्थ्य खराब होने के कारण पुलिस ने उन्हें जबर्दस्ती अस्पताल पहुंचा दिया।

हार्दिक को गुजरात से लेकर देश के हर कोने से नौजवानों, किसानों और श्रर्मिक वर्ग का समर्थन मिल रहा है।
इस आंदोलन की शुरूआत पाटीदार अनामत आंदोलन समिति ने किया, जिसका नेतृत्व 25-वर्षीय हार्दिक पटेल कर रहे हैं, जिन्होंने भूख हड़ताल के 13वें दिन (कल, 6 सितम्बर) को फिर से पानी पीना छोड़ दिया था।

आंदोलन के नेता ने कहा कि भाजपा सरकार किसानों की समस्याएं दूर करने में कोई दिलचस्पी नहीं रखती और हमारा आंदोलन जीत मिलने तक जारी रहेगा।

नेशनल पैंथर्स पार्टी के मुख्य संरक्षक, वरिष्ठ अधिवक्ता एवं स्टेट लीगल एड कमेटी के कार्यकारी चेयरमैन प्रो.भीमसिंह ने 25 अगस्त, 2018 से अपनी बिरादरी के लिए सरकारी नौकरी में आरक्षण, शिक्षा और किसानों की कर्जमाफी की मांगों पर अनिश्चितकालीन भूखहड़ताल पर बैठे हार्दिक पटेल के साथ एकजुटता और समर्थन की घोषणा की है।

प्रो.भीमसिंह पार्टी की महासचिव सुश्री अनीता ठाकुर के साथ हार्दिक पटेल से मुलाकात के लिए अहमदाबाद जाने वाले थे और इसके सम्बंध में उन्होंने अहमदाबाद के पुलिस महानिदेशक और मुख्य सचिव को भी बता दिया था, लेकिन पुलिस के द्वारा जबर्दस्ती हार्दिक पटेल को अस्पताल स्थानांतरित किये जाने के बाद उन्होंने अपना दौरा रद्द कर दिया।

प्रो.भीमसिंह ने गुजरात भाजपा सरकार के द्वारा हार्दिक पटेल और उनके साथियों से बातचीत करने के बजाय उन्हें जबर्दस्ती अस्तपाल पहुंचाये जाने पर आश्चर्य और दुख व्यक्त किया है।

उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी पर अहमदाबाद में शांतिपूर्ण तरीके से भूख हड़ताल पर बैठे हार्दिक पाटिल के मामले में व्यक्तिगत हस्तक्षेप के लिए जोर दिया है।

उन्होंने नौजवानों और ट्रेड यूनियनों से महात्मा गांधी की मातृभूमि पर किसानों के इस आंदोलन का पूर्ण समर्थन करने की अपील की।

उन्होंने कहा कि जो लोग न्याय के लिए शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करते हैं, मैं उनके समर्थन में देश के हर कोने में जाने को तैयार हूं।

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।