मालदीव संकट : सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश गिरफ्तार, आपातकाल लागू

मालदीव में राजनीतिक संकट बढ़ गया है। पुलिस ने देश के सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों को गिरफ्तार कर लिया है, और राष्ट्रपति ने आपातकाल लागू कर दिया है।...

नई दिल्ली, 6 फरवरी। मालदीव में राजनीतिक संकट बढ़ गया है। पुलिस ने देश के सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों को गिरफ्तार कर लिया है, और राष्ट्रपति ने आपातकाल लागू कर दिया है।

प्राप्त समाचार के मुताबिक प्रधान न्यायाधीश अब्दुल्ला सईद और एक अन्य न्यायाधीश अली हमीद को सरकार द्वारा आपातकाल के ऐलान के बाद उनके आवासों से गिरफ्तार कर लिया।

इस संबंध में जांच और आरोपों को लेकर कोई जानकारी नहीं दी गई।

न्यायपालिका के प्रवक्ता ने सूचित किया है कि सुरक्षा बलों ने सर्वोच्च न्यायालय के द्वार तोड़ दिए हैं और परिसर में प्रवेश किया।

मालदीव में यह राजनीतिक संकट उस समय उत्पन्न हुआ, जब देश के सर्वोच्च न्यायालय ने जेल में बंद विपक्षी नेताओं को रिहा करने का आदेश दिया, जिसे राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन ने मानने से इनकार कर दिया।

विपक्ष ने सरकार के इस कदम की निंदा की है। मालदीव सरकार के इस कदम को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह सर्वोच्च न्यायालय ने कुछ विपक्षी नेताओं की रिहाई के आदेश दिए थे। न्यायालय ने अपने आदेश में देश के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद पर 2015 में शुरू किए गए मुकदमे को असंवैधानिक भी बताया था। फिलहाल, नशीद निर्वासित जीवन व्यतीत कर रहे हैं।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।