आज़मगढ़ के संजरपुर गांव के आफताब और मोनू को एसओजी ने उठाया! रिहाई मंच ने फर्जी मुठभेड़ में मारे जाने की जताई आशंका

रिहाई मंच ने आज़मगढ़ के संजरपुर गांव के आफताब और मोनू के एसओजी द्वारा उठाए जाने के बाद फर्जी मुठभेड़ में मारे जाने की आशंका जताई है। ...

आज़मगढ़ के संजरपुर गांव के आफताब और मोनू को एसओजी ने उठाया! रिहाई मंच ने फर्जी मुठभेड़ में मारे जाने की जताई आशंका

रिहाई मेंच ने आज़मगढ़ के संजरपुर गांव के आफताब और मोनू के एसओजी द्वारा उठाए जाने के बाद फर्जी मुठभेड़ में मारे जाने की आशंका जताई है। मंच महासचिव राजीव यादव ने उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक को इस संबंध में पत्र लिखा है, जिसका मजमून निम्न है

प्रति,

पुलिस महानिदेशक

उत्तर प्रदेश।

विषय- आजमगढ़ के संजरपुर गांव के आफताब के एसओजी द्वारा उठाने की आशंका से भयभीत उनके भाई नजरे आलम के हवाले से. आफताब को डेढ़ साल पहले भी पुलिस ने उठाकर पैर में गोली मारकर फर्जी मुठभेड़ में गिरफ्तारी का दावा किया था.

महोदय,

नजरे आलम ने 98 89 119008 से बताया कि उसका भाई आफताब पुत्र शमशुद्दीन आज सुबह कचहरी के लिए तारीख पर गया था. उसके साथ मोनू भी गया था. उसका मोबाइल बंद जा रहा था तो वकील साहब ने बताया कि दस्तखत कर वे 12-1 के करीब वे वहां से निकले थे. उसके बाद उसका पता नहीं चल रहा है.

उन्हें इस बात का डर है कि कहीं उनके भाई को फर्जी मुठभेड़ में न मार दिया जाय . इसके पहले डेढ़ साल पहले उनके भाई के पैर में गोली मारकर फर्जी मुठभेड़ में गिरफ्तारी का दावा किया गया था. उन्हें डर है कि एसओजी उसे उठाकर कहीं किसी फर्जी मुठभेड़ में मार न दे. उन्होंने डीआईजी, एसपी व अन्य को फ़ैक्स कर दिया है.

इसके पहले भी आजमगढ़ में फर्जी एनकाउंटर के मामले संज्ञान में आए हैं और मनवाधिकार आयोग जांच कर रहा है। यह मामला विधि व्यवस्था और लोकनीति का है आप से अनुरोध है कि आजमगढ़ के आफताब और मोनू के मामले को संज्ञान में लिया जाए।

आफताब जिसके बारे में उनके भाई को डर है कि उसे फर्जी मुठभेड़ में पुलिस मार सकती है के बारे में यथाशीघ्र सूचना सार्वजनिक की जाय.

 द्वारा

राजीव यादव

महासचिव, रिहाई मंच।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।