मेवानी से परेशान रूपानी को राहुल ने दिया धनानी का तोहफा

अब गुजरात विधानसभा में घिरेगी BJP !

कांग्रेस खड़ी करेगी भाजपा के लिए मुश्किलें

परेश धनानी होंगे नेता विपक्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव में भले ही कांग्रेस सत्ता की चौखट ना पार कर पाई हो... लेकिन उसने अपने आपको मजबूत विपक्ष के रूप में जरूर खड़ा किया है...जिसका समना करना भाजपा के लिए बेहद मुश्किल होगा...क्योंकि अब तक भाजपा 115 विधायकों के साथ विधानसभा में अपना पक्ष मजबूती से रखती आई थी,,,लेकिन अब ये आंकड़ा महज 99 ही रह गया...और कांग्रेस 61 से सीधा 78 पर पहुंच गई...जिससे सदन में भाजपा का घिरना तय है...भाजपा को और कमजोर करने के लिए राहुल ने भी नेता विपक्ष का चेहरा बदल दिया है...साथ ही 2019 के लिए चुनावी बिसात भी बिछा दी है

गुजरात विधानसभा चुनाव के बाद सदन में भी भाजपा को घेरने के लिए कांग्रेस ने नेता विपक्ष के रुप में दमदार चेहरे को उतारा है... राहुल गांधी ने गुजरात कांग्रेस के युवा नेता परेश धनानी को विधायक दल का नेता नियुक्त किया है... धनानी राज्य विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष होंगे...

परेश धनानी का नाम पहले से ही चर्चा में था. चुनाव से पहले ये माना जा रहा था कि अगर कांग्रेस चुनाव जीत गुजरात में सत्ता की कमान संभालती है तो परेश धनानी उपमुख्यमंत्री बन सकते हैं...लेकिन अब कांग्रेस ने ज़मीन से जुड़े नेता को नेता विपक्ष बनाया है...

परेश धनानी ने तीसरी बार सौराष्ट्र में अमरेली निर्वाचन क्षेत्र से जीत हासिल की है....

प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी ने कहा कि युवा, ऊर्जावान नेता को पार्टी आलाकमान ने नेता प्रतिपक्ष के रूप में चुना है. वह सभी कांग्रेस विधायकों को साथ लेकर चलेंगे और विधानसभा में पार्टी को मजबूत बनाएंगे...

वैसे धनानी को नेता विपक्ष बनाकर जहां कांग्रेस ने विधानसभा में भाजपा को घेरने की तैयारी की है, तो वहीं 2019 के लिए भी सियासी बिसात बिछाई है... क्योंकि परेश धनानी पटेल समुदाय से आते हैं... ऐसे में कांग्रेस ने उनको नेता विपक्ष बनाकर ये दिखाने की कोशिश की है कि...कांग्रेस पटेलों का साथ कभी नहीं छोड़ेगी...

अब राहुल गांधी ने एक तीर से दो निशाने लगाने की कोशिश तो की है ...लेकिन देखना होगा कि...2019 में ये निशाने कितने सटीक बैठते हैं

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।