कांग्रेस की लोकप्रियता से घबराकर बार-बार छत्तीसगढ़ जाना पड़ रहा है अमित शाह को !

कांग्रेस की लोकप्रियता से घबराकर बार-बार छत्तीसगढ़ आना पड़ रहा है अमित शाह को...

कांग्रेस की लोकप्रियता से घबराकर बार-बार छत्तीसगढ़ आना पड़ रहा है अमित शाह को

रायपुर/04 अक्टूबर 2018। छत्तीसगढ़ प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष फूलोदेवी  नेताम ने कहा है कि अमित शाह का बार-बार दौरा इस बात को साबित करता है कि वह कांग्रेस की लोकप्रियता से डर गए हैं इसलिए बार-बार छत्तीसगढ़ का दौरा कर रहे हैं।

फूलोदेवी नेताम ने कहा कि अमित शाह का बार-बार के दौरे में स्वागत इत्यादि में करोड़ों रुपए का खर्च भाजपा सरकार करती है। यह सब जनता की खून पसीने की कमाई है जिसे इन लोग ऐसी ही बर्बाद कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा महिलाएं दुखी हैं। सबसे ज्यादा असुरक्षित राज्य छत्तीसगढ़ बन गया है। महिलाओं के लिए. भाजपा सरकार 15 सालों से सत्ता में काबिज है लेकिन सिर्फ और सिर्फ जुमलेबाजी में लगे हुए हैं।

कांग्रेस नेत्री ने पूछा कि बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ का नारा देते हैं, लेकिन छत्तीसगढ़ में 27 हजार महिलाएं बच्ची लापता हैं तो रमन सिंह ने क्यों नहीं बचाया? कवर्धा जिला जो रमन सिंह जी का क्षेत्र है वहां से 11000 बच्चों ने पढ़ाई छोड़ दी है। महिलाओं को सिर्फ वोट बैंक समझते हैं। जब-जब चुनाव नजदीक आता है महिलाओं को छलने का काम किया जाता है। उन्नाव कठुआ जैसे घिनौनी घटना को बीजेपी के विधायक वारदात को अंजाम देते हैं। लेकिन नरेंद्र मोदी एक शब्द भी नहीं बोलते।

उन्होंने कहा कि अमित शाह के कार्यक्रम में ज्यादा से ज्यादा भीड़ लाने के लिए भाजपा वाले एड़ी चोटी के जोर लगा रहे हैं। मितानिन, सहायक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को दबाव बनाया जाता है कि ज्यादा से ज्यादा भीड़ लाने के लिए। भाजपा सरकार एक हिटलरशाही शासन चला रही है।

नेताम ने कहा कि पहले भी ऐसा हो चुका है भाजपा के कार्यक्रम में यदि महिलाएं काला कपड़ा, काला साड़ी, काला मोजा इत्यादि पहनकर जाती हैं तो उनके कपड़े उतरवा देते हैं क्योंकि जनता की मानसिकता को भाजपा समझ चुकी है कि जनता विरोध कर रही है उनके शासन में हर वर्ग दुखी है। यदि महिलाएं अपने अधिकार की आवाज उठाती हैं तो उन्हें डंडे से पीटा जाता है और जेल में डाल दिया जाता है।

कांग्रेस नेत्री ने कहा कि भाजपा शासन में लोकतंत्र पूरी तरह से खतरे में है सबसे ज्यादा अत्याचार भाजपा के शासन में हुआ है। आने वाले चुनाव में महिला ही इन्हें बाहर की रास्ता दिखाएगी।

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।