प्रकाश अंबेडकर का आरोप दंगाई हिंदुत्ववादी नेता को पीएम का समर्थन, बोले हमें पता है कि सही समय पर इससे कैसे निपटना है  

अगर एक और हिंदुत्व नेता मिलिंद एकबोटे गिरफ्तार हो सकता है, तो भीमा-कोरेगांव का मुख्य आरोपी होने के बावजूद, ऐसी क्या चीज है जो भिड़े को गिरफ्तार करने से रोक रही है।...

देशबन्धु

मुंबई, 26 मार्च। भारिपा बहुजन महासंघ के अध्यक्ष और संविधान निर्माता बी.आर. अंबेडकर के पड़पोते प्रकाश अंबेडकर ने भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) नीत महाराष्ट्र सरकार पर दक्षिणपंथी हिंदुत्ववादी नेता संभाजी भिड़े उर्फ 'गुरुजी' को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन की वजह से गिरफ्तार नहीं करने का आरोप लगाया है। दलितों और अन्य पार्टियों के कार्यकर्ताओं के जनसमूह को संबोधित करते हुए प्रकाश अंबेडकर ने कहा,

"यह अच्छी तरह से ज्ञात तथ्य है कि मोदी भिड़े को गुरू के रूप में मानते हैं।"

अंबेडकर ने चेतावनी देते हुए कहा,

"हम मोदी के साथ लड़ने के पक्ष में नहीं है। हालांकि महाराष्ट्र सरकार द्वारा अगर कार्रवाई नहीं की गई तो हमें पता है कि सही समय पर इससे कैसे निपटना है।"

प्रकाश ने स्पष्ट किया कि सभी को जनता की इच्छा के सामने झुकना चाहिए और 'हम जानते हैं कि कैसे प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री (देवेंद्र फडणवीस) को लोगों के सामने झुकाया जाता है।'

अंबेडकर ने कहा,

"अगर कानून लागू नहीं किया गया, और भिड़े को आठ दिनों के अंदर गिरफ्तार नहीं किया गया, तो हम हमारे भविष्य की रणनीति की रूपरेखा प्रस्तुत करेंगे। कानून सबके लिए समान क्यों नहीं है? अगर एक और हिंदुत्व नेता मिलिंद एकबोटे गिरफ्तार हो सकता है, तो भीमा-कोरेगांव का मुख्य आरोपी होने के बावजूद, ऐसी क्या चीज है जो भिड़े को गिरफ्तार करने से रोक रही है।"

उन्होंने महाराष्ट्र के भाजपा अध्यक्ष रावसाहेब पाटील-दानवे को भी भीमा-कोरेगांव दंगे के संबंध में सोशल मीडिया पर बयान देने के लिए गिरफ्तार करने की मांग की।

प्रकाश ने कहा कि उन्होंने 15 मार्च को महाराष्ट्र सरकार को 26 मार्च तक भिड़े गुरुजी को गिरफ्तार करने की समयसीमा दी थी, लेकिन ऐसा नहीं किया गया।

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।