रिहाई आंदोलन के दस वर्ष पूरे, चलेगा जनअभियान,‘न्यायिक भ्रष्टाचार और लोकतंत्र’ विषयक सेमीनार के मुख्य वक्ता होंगे वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण

रिहाई आंदोलन के दस वर्ष पूरे होने पर चलाया जाएगा जनअभियान. ‘न्यायिक भ्रष्टाचार और लोकतंत्र’ विषयक सेमीनार के मुख्य वक्ता होंगे वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण...

न्यायिक भ्रष्टाचार और लोकतंत्रविषयक सेमीनार के मुख्य वक्ता होंगे वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण

16 दिसंबर, को यूपी प्रेस क्लब लखनऊ सेमीनार

लखनऊ  1 दिसंबर 2017। रिहाई आंदोलन के दस वर्ष पूरे होने पर रिहाई मंच 16 दिसंबर को यूपी प्रेस क्लब लखनऊ में सेमीनार करेगा। ‘न्यायिक भ्रष्टाचार और लोकतंत्र’ विषयक सेमीनार के मुख्य वक्ता वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण होंगे।

रिहाई मंच कार्यालय पर हुई बैठक में वक्ताओं ने कहा कि 2007 में आतंकवाद के नाम पर 12 दिसंबर को आजमगढ़ से तारिक कासमी और 16 दिसंबर को खालिद मुजाहिद की गिरफ्तारी के बाद एसटीएफ जैसी स्पेशल फोर्सेज और काले कानूनों के खिलाफ खड़े हुए आंदोलन के दस वर्ष होने पर आम जनता में व्यापक स्तर पर जन अभियान चलाने की जरुरत है। मानवाधिकार का सवाल एक राजनीतिक सवाल है पर इस पर जिस तरह राजनीतिक दल चुप्पी साध जाते हैं वो आम जनता के हित में नहीं है। मानवाधिकार जैसे गंभीर सवाल को नियति का खेल बना दिया गया है जो हमारे लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन करता है।

बैठक में तय किया गया कि इस मुद्दे को लेकर मानवाधिकार दिवस 10 दिसंबर से लेकर 16 दिसंबर तक जनअभियान चलाया जाएगा। इसको लेकर 3 दिसंबर को 2 बजे रिहाई मंच कार्यालय पर बैठक की जाएगी।

बैठक में रिहाई मंच अध्यक्ष मुहम्मद शुऐब, सृजन योगी आदियोग, शाहनवाज आलम, लक्ष्मण प्रसाद, अनिल यादव, वीरेन्द्र गुप्ता, शाहरुख अहमद, अस्जाद मलिक, वीरेन्द्र गुप्ता, राजीव यादव मौजूद रहे।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।