मताधिकार का प्रयोग लोकतंत्र को सक्षम बनाता है – शैलेश नवाल

पब्लिक रिलेशन्‍स सोसायटी ऑफ इंडिया की ओर से जिलाधिकारी कार्यालय में मनाया जनसंपर्क दिवस  ‘भारतीय लोकतंत्र : सार्थक चुनाव का मंत्र’ विषय हुई चर्चा, ·         डॉ. सचिन पावडे को दिया गया जनसंपर्क सम्‍मा...


जिलाधिकारी कार्यालय में मनाया जनसंपर्क दिवस, ‘भारतीय लोकतंत्र : सार्थक चुनाव का मंत्र’ विषय हुई चर्चा

·         डॉ. सचिन पावडे को दिया गया जनसंपर्क सम्‍मान

वर्धा, 21 अप्रैल 2018: पब्लिक रिलेशन्‍स सोसायटी ऑफ इडिया के वर्धा चैप्‍टर की ओर से शनिवार 21 अप्रैल को जिलाधिकारी कार्यालय के सभा कक्ष में आयोजित राष्‍ट्रीय जनसंपर्क दिवस समारोह की अध्‍यक्षता करते हुए जिलाधिकारी शैलेश नवाल ने कहा कि हमे हमारा समाज कैसा चाहिए यह हमारे मताधिकार पर निर्भर करता है। लोकतंत्र में लोगों का विश्‍वास बढ़ाने के लिए मताधिकार अधिक से अधिक प्रयोग जरूरी है। लोकतंत्र में लोग जागरूक होंगे तो उनकी अपेक्षा और आकांक्षाए पूरी होगी।

पब्लिक रिलेशन्‍स सोसायटी के वर्धा चैप्‍टर की ओर से 21 अप्रैल को जनसंपर्क दिवस मनाया गया। इस वर्ष यह दिवस ‘भारतीय लोकतंत्र - सार्थक चुनाव का मंत्र’ इस विषय पर मनाया जा रहा है जिसपर वर्षभर चर्चाएं, कार्यक्रम एवं उपक्रम आयोजित होंगे। इस अवसर पर मुख्‍य अतिथि के रूप में महात्‍मा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय के प्रतिकुलपति प्रो. आनंद वर्धन शर्मा उपस्थित थे। कार्यक्रम में उप जिला चुनाव अधिकारी श्रीमती स्मिता पाटिल तथा जिला सूचना अधिकारी मनीषा सावले की विशेष उपस्थिति थी। कार्यक्रम में मुख्‍य वक्‍ता के रूप में उपस्थित डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर मराठवाडा विश्‍वविद्यालय, औरंगाबाद में जनसंचार एवं जनसंपर्क के विशेषज्ञ प्रो. विजय एल. धारूरकर ने ‘भारतीय लोकतंत्र - सार्थक चुनाव का मंत्र’ विषय पर व्‍याख्‍यान दिया। कार्यक्रम का स्‍वागत वक्‍तव्‍य एवं प्रास्‍ताविक पब्लिक रिलेशन्‍स सोसायटी वर्धा चैप्‍टर के अध्‍यक्ष प्रो. अनिल कुमार राय ने प्रस्‍तुत किया। कार्यक्रम का संचालन पीआरएसआय वर्धा चैप्‍टर के सचिव बी. एस. मिरगे ने किया तथा आभार कोषाध्‍यक्ष प्रफुल्‍ल दाते ने माना। समारोह में वर्धा के जाने-माने बाल रोग विशेषज्ञ तथा वैद्यकीय जागरूकता मंच के अध्‍यक्ष डॉ. सचिन पावडे को जनसंपर्क सम्‍मान से विभूषित किया गया। इस अवसर पर जनसंपर्क दिवस विशेषांक का विमोचन अतिथियों के द्वारा किया गया।

मुख्‍य वक्‍ता के रूप में विचार रखते हुए प्रो. विजय धारूरकर ने कहा कि हमारा देश व्‍यापक भूभाग वाला है। उन्‍होंने लोकतंत्र के महत्‍व को रेखांकित करते हुए कहा कि इसमें हर किसी को चुनाव के माध्‍यम से अपनी क्षमता को सिद्ध करने का मौका मिलता है। हमारे देश में जनतांत्रिक परंपरा हा इतिहास रहा है और इसीको संविधान के ढांचे में ढाला गया है। सुचारू रूप से चुनाव करने के लिए चुनाव आयोग महत्‍वपूर्ण एसंजी है जो देश भर में चुनाव सम्‍पन्‍न कराने के कार्य करती है जिसके पास वैज्ञानिक पद्धति की प्रबंधन प्रणाली है। चुनाव और लोकतंत्र में मीडिया की भूमिका का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा कि समांतर शासन और सरकार के कार्यक्रमों को लोगों तक पहुंचाने के लिए मीडिया महत्‍वपूर्ण इकाई है। वह सरकार और लोगों के बीच कड़ी के रूप में कार्य करती है। उन्‍होंने कहा कि चुनाव को पारदर्शी बनाने, चुनाव में लोगों की भागीदारी बढ़ाने, उनमें सजगता लाने में जनसंपर्क और मीडिया की अहम भूमिका होती है।

महात्‍मा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय के प्रतिकुलपति प्रो. आनंद वर्धन शर्मा ने कहा कि इस विशाल देश में चुनाव कराने की चुनौतियों का सामना बड़े सुचारू ढंग से चुनाव आयोग और उनकी यंत्रणा करती है। उन्‍होंने कहा कि हाल के दिनों में पता चलता है कि चुनाव से सुशिक्षित मतदाता दूर होता जा रहा है और इसके लिए उनमें जागरूकता लाने की अधिक जरूरत महसूस हो रही है। चुनाव प्रकिया देश का भविष्‍य तक करती है और सरकार को मार्ग दिखाने का काम हमारा लोकतंत्र करता है।

इस अवसर पर उप जिला चुनाव अधिकारी श्रीमती स्मि‍ता पाटिल ने कहा कि चुनाव में लोगों की भागीदारी बढाने के लिए चुनाव पाठशाला जैसे उपक्रम हाथ में लिए जा रहे है जिसके माध्‍यम से स्कूल और कॉलेजों में नए मतदाताओं को जोड़ने का काम किया जाएगा। पीआरएसआय और अन्य संस्‍थाओं को इस उपक्रम में शामिल किया जाएगा जिससे अधिक से अधिक लोग आने वाले चुनाव में सहभागी हो सके। इस अवसर पर पीआरएसआई की ओर से वैद्यकीय जागरूकता मंच के माध्‍यम से जल संरक्षण, स्‍वास्‍थ्‍य शिक्षा के क्षेत्र में उल्‍लेखनीय कार्य करने के लिए वर्धा शहर के जाने-माने बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. सचिन पावडे को जनसंपर्क सम्‍मान से विभूषित किया गया। जिलाधिकारी नवाल और प्रतिकुलपति प्रो. शर्मा ने उन्‍हें शॉल, मान पत्र और पुष्‍पगुच्‍छ प्रदान कर उनका सम्‍मान किया। अपने सम्‍मान पर उन्‍होंने कहा कि यह सम्‍मान वर्धा शहर के लोगों और वैद्यकीय जागरूकता मंच को समर्पित है।

     कार्यक्रम में पीआरएसआई के उपाध्‍यक्ष संजय इंगले तिगांवकर, हिंदी विवि के जनसंचार विभाग के सहायक प्रोफेसर राजेश लेहकपुरे, डॉ. अख्‍तर आलम, अनुवाद अध्‍ययन विभाग के डॉ. अनवर अहमद सिद्दीकी, डॉ. राम प्रकाश यादव, जानकीदेवी बजाज संस्‍था के विनेश काकडे, यशवंत सोसायटी के संदीप घानोकर, सचिन घोडे, इब्राहिम बक्ष, अग्निहोत्री महाविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी प्रमोद गिरडकर, संदीप वर्मा, डॉ. डी. एन. प्रसाद, निसर्ग सेवा समिति के अध्‍यक्ष मुरलीधर बेलखोडे, वैद्यकीय जागरूकता मंच के डॉ. आलोक विश्‍वास, डॉ. स्मिता सचिन पावडे, बहार नेचन फाउंडेशन के अध्‍यक्ष प्रा. किशोर वानखेडे, रेडियो एमगिरी के अमोल देशमुख, स्‍वेता क्षीरसागर, डीजीसी कम्‍युनिकेशन के सचिन घोडे, एबीपी माझा न्‍यूज चैनल के पराग ढोबले, जिला सामान्‍य रुग्‍णालय के प्रवीण गावंडे, अभिषेक वडतकर, हिंदी विवि के शोधार्थी रूपाली अलोने, अनुपम राय, चेतन भट्ट, रंजीत कुमार,वैभव उपाध्‍याय, गोदावरी ठाकुर, विकास सिंह, फोटोग्राफर राजदीप राठौर, सुरेश कुमार, दीपक साल्‍वे, कल्‍याणी बनिये, दीपक पांडे आदि उपस्थित थे।

विज्ञप्ति

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।