राफेल डील में बढ़ीं मोदी की मुश्किलें : राहुल गांधी ने फ्रांस्वा ओलांद के साक्षात्कार का वीडियो जारी कर बिना नाम लिए मोदी को कहा “भारत के चोरों के सरदार”

राफेल डील में बढ़ीं मोदी की मुश्किलें : राहुल गांधी ने फ्रांस्वा ओलांद के साक्षात्कार का वीडियो जारी कर बिना नाम लिए मोदी को कहा “भारत के चोरों के सरदार”...

राफेल डील में बढ़ीं मोदी की मुश्किलें : राहुल गांधी ने फ्रांस्वा ओलांद के साक्षात्कार का वीडियो जारी कर बिना नाम लिए मोदी को कहा “भारत के चोरों के सरदार”

नई दिल्ली, 24 सितंबर। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल डील पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फिर कटघरे में खड़ा करते हुए फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के उस साक्षात्कार का वीडियो जारी किया जिसमें उन्होंने कहा था कि राफेल लड़ाकू विमान सौदे में ऑफसेट पार्टनर के लिए अनिल अंबानी की कंपनी का नाम भारत सरकार ने सुझाया था।

अपने ट्विटर हैंडल पर इस वीडियो को राहुल गांधी ने ‘भारत के चोरों के सरदार की दुखद सच्चाई’ शीर्षक के साथ पोस्ट किया है। इसमें हालांकि पीएम मोदी के नाम का कहीं उल्लेख नहीं किया गया है।

वीडियो में फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा है कि राफेल सौदे में ऑफसेट पार्टनर के रूप में अनिल अंबानी की कंपनी का चयन उनकी सरकार ने नहीं किया था। इस बीच फ्रांस के जूनियर विदेश मंत्री जे बी लेमोयन ने आशंका जतायी है कि राफेल सौदे को लेकर  ओलांद की टिप्पणी से भारत-फ्रांस संबंधों को नुकसान पहुंच सकता है।

कांग्रेस राफेल सौदे में गड़बड़ी को लेकर लगातार सरकार पर हमला कर रही है और उसका आरोप है कि यह सदी का सबसे बड़ा घोटाला है और श्री मोदी सीधे तौर पर इसमें शामिल हैं। पार्टी का आरोप है कि प्रधानमंत्री ने सरकारी क्षेत्र की कंपनी हिन्दुस्तान एयरोनाटिकल्स लिमिटेड को ऑफसेट पार्टनर से हटाकर इसके लिए अनिल अंबानी की कंपनी का चयन किया है।

66 दिन से कांग्रेस लगातार राफेल डील में घोटाले के मुद्दे को उठा रही है। लोकतांत्रिक जनता दल के अध्यक्ष शरद यादव ने भी संयुक्त संसदीय समिति से इस घोटाले की जांच कराने को कहा है।

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।