एक दयालु, सौम्य और स्नेही व्यक्ति थे राजीव गांधी, उनकी असामयिक मृत्यु ने मेरे जीवन में एक गहरा शून्य छोड़ा – राहुल गांधी

एक दयालु, सौम्य और स्नेही व्यक्ति थे राजीव गांधी, उनकी असामयिक मृत्यु ने मेरे जीवन में एक गहरा शून्य छोड़ा – राहुल गांधी...

एक दयालु, सौम्य और स्नेही व्यक्ति थे राजीव गांधी, उनकी असामयिक मृत्यु ने मेरे जीवन में एक गहरा शून्य छोड़ा – राहुल गांधी

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने पिता और पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की जयंती के मौके पर उन्हें याद करते हुए कहा कि वह एक दयालु, सौम्य और स्नेही व्यक्ति थे, जिनकी असामयिक मृत्यु ने मेरे जीवन में एक गहरा शून्य छोड़ा है।

राजीव गांधी की जयंती पर उनके समाधि स्‍थल पर यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने श्रद्धांजलि दी। उनके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रियंका गांधी वाड्रा, राबर्ट वाड्रा समेत कांग्रेस के अन्‍य नेताओं ने भी श्रद्धांजलि दी।

आपको बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की आज जयंती है और वह देश के छठे प्रधानमंत्री थे। 20 अगस्‍त, 1944 को जन्‍मे राजीव गांधी की 1991 में तमिलनाडु में हत्‍या कर दी गई थी।

अपने एक ट्वीट में राहुल गांधी ने कहा है कि

वह एक दयालु, सौम्य और स्नेही व्यक्ति थे, जिनकी असामयिक मृत्यु ने मेरे जीवन में एक गहरा शून्य छोड़ा है।

उन्‍होंने कहा,

'मुझे उनके साथ बिताया गया समय याद है और भाग्‍यशाली था कि कई जन्‍मदिन उनके साथ मनाएं जब वह जिंदा थे। उन्‍होंने कहा कि उन्‍हें बहुत याद करता हूं लेकिन वह मेरी यादों में हैं।'

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।