आज 21 वीं सदी का भारत जहाँ खड़ा है, उसका सपना राजीव गांधी ने ही देखा था

कम्प्यूटर, दूर संचार क्रांति, इंडिया मार्क हैंड पम्प, जो आज गाँव-गाँव में लगा है, सब राजीव गांधी की देन है।...

आज 21 वीं सदी का भारत जहाँ खड़ा है, उसका सपना राजीव गांधी ने ही देखा था

गोपाल राठी

आज भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि है।  वे अपने छोटे भाई संजय गाँधी के दुर्घटना में निधन के बाद राजनीति में आए और अपनी माँ श्रीमती इंदिरा गांधी की ह्त्या के बाद प्रधानमंत्री बने।  वे सबसे कम आयु के प्रधानमंत्री थे।

राजनैतिक स्तर पर कांग्रेस की अधिनायकवादी और पूंजीवादी नीतियों का हमने सदैव विरोध किया है।  इंदिरा गांधी, राजीव गांधी से लेकर नरसिम्हाराव, मनमोहन सिंह तक की नीतियों का प्रतिकार किया।  मैं कांग्रेसी नहीं हूं। वंशवाद का समर्थक भी नहीं हूं।

कम्प्यूटर, दूर संचार क्रांति, इंडिया मार्क हैंड पम्प, जो आज गाँव-गाँव में लगा है, सब उनकी देन है। आज हम IT के महारथी हैं, गाँव-गाँव में मोबाईल हैं, देश आगे बाद रहा हैं, जो सपना आपने देखा था वो पूरा होने जा रहा हैं।

आज 21 वीं सदी का भारत जहाँ खड़ा है, उसका सपना उन्होंने ही देखा था।

उनके इस योगदान को भारत हमेशा याद रखेगा।  उन्हें सलाम।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।