नरेंद्र मोदी आजादी के बाद के सर्वाधिक लोकप्रिय नेता - भाजपा

भारतीय जनता पार्टी ने दावा किया है कि पांच राज्यों में संपन्न विधानसभा चुनावों के परिणामों ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी को आजादी के बाद के सर्वाधिक लोकप्रिय नेता के रूप में प्रस्थापित किया है।...

भारतीय जनता पार्टी ने दावा किया है कि पांच राज्यों में संपन्न विधानसभा चुनावों के परिणामों ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी को आजादी के बाद के सर्वाधिक लोकप्रिय नेता के रूप में प्रस्थापित किया है।

पार्टी की भुवनेश्वर में राष्ट्रीय कार्यकारिणी में पारित एक प्रस्ताव में यह कहा गया है। प्रस्ताव में दावा किया गया है किमोदीसरकार जनादेश की कसौटी पर खरी उतरी है।

पूरा प्रस्ताव निम्नवत् है

प्रस्ताव क्रमांक-1

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के तीन वर्षों के कार्यकाल में लोक कल्याण हेतु लिए गए निर्णयों ने आर्थिक विकास, राजनीतिक विश्वास, उन्नतिशील भारत के निर्माण एवं वैश्विक पटल पर भारत की साख में मजबूती के लक्ष्यों को हासिल किया है. शासन की नीतियों से समाज के अंतिम छोर पर खड़े आम व्यक्ति की आशाओं, आकांक्षाओं की पूर्ति करने की दिशा में भारतीय जनता पार्टी की सरकार श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में सफलता पूर्वक काम कर रही है. गरीब कल्याण को समर्पित उनकी नीतियों के कारण देश की गरीब जनता के मानस में उनके प्रति श्रद्धा, आदर और विश्वास का भाव न सिर्फ मजबूत हुआ है बल्कि जनादेश की कसौटी पर प्रमाणित भी हुआ है. देश के बहुमुखी विकास के लिए अनिवार्य हर जरूरत को वरीयता देते हुए सरकार ने अभूतपूर्व ढंग से काम किया है.

आर्थिक विकास के मोर्चे पर सरकार के प्रयासों से जीएसटी पारित कराने की सफलता मिली तो वहीँ बजट कोअनुशासन के दायरे में लाते हुए इसके कार्यान्वयन के माध्यम से अर्थव्यवस्था की रफ़्तार को त्वरित रूप से गति प्रदान करने का कार्य हुआ है. तकनीक और विज्ञान के क्षेत्र में श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने ऐतिहासिक सफलताएँ हासिल की हैं, जो भारत को संचार एवं रक्षा क्षेत्र में मजबूती प्रदान करने की दिशा में उपलब्धि है. निर्माण क्षेत्र में हुई बढ़ोतरी और विविध क्षेत्रों में मेक इन इण्डिया स्कीम के तहत हासिल हुई आत्मनिर्भरता से  भारत विश्व के अग्रणी देशों के साथ प्रतिस्पर्धा में मजबूती के साथ खड़ा नजर आ रहा है.

जनादेश की कसौटी पर खरी सरकार

पांच राज्यों में संपन्न विधानसभा चुनावों के परिणामों ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी को आजादी के बाद के सर्वाधिक लोकप्रिय नेता के रूप में प्रस्थापित किया है. ऐसे समय में जब भाजपा अपने विचारों के प्रणेता पंडित दीन दयाल उपाध्याय जी के जन्म शताब्दी को गरीब कल्याण वर्ष के तौर पर मना रही है, इन चुनावों में मिले जनादेश का महत्व बढ़ जाता है. उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, मणिपुर में पार्टी को विधानसभा चुनावों में और महाराष्ट्र, गुजरात एवं ओड़िसा के निकाय चुनावों में मिली सफलता भाजपा सरकार की गरीब कल्याण को समर्पित नीतियों के प्रति आम जनमानस के अगाध विश्वास की जीत है. 

पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह जी की कुशल संगठनात्मक रणनीति एवं संगठन के सभी कार्यकर्ताओं के अथक परिश्रम का भी अभिनन्दन करती है जिसके कारण पार्टी को उत्तरप्रदेश एवं उत्तराखंड में तीन चौथाई से भी ज्यादा सीटें प्राप्त हुयी.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 में पार्टी को 2012 विधानसभा चुनाव की तुलना में भारी बढ़ोतरी मिली है. पार्टी को 41(राजग)फीसद वोट और 325 सीटों पर जीत मिली है. यह उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के इतिहास की सबसे बड़ी जीत है. उत्तर प्रदेश की यह जीत इस लिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी के विधायकों में सभी वर्गों एवं सभी क्षेत्रों का व्यापक प्रतिनिधित्व समाहित है. अमीर-गरीब, शहरी-ग्रामीण, अगड़ा-पिछड़ा, युवा, महिला, किसान सभी का प्रतिनिधित्व भाजपा की व्यापक पहुँच को प्रदर्शित करता है. उत्तराखंड में भी भाजपा को ऐतिहासिक एवं अभूतपूर्व सफलता हासिल हुई है. उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में भाजपा को 46.5 फीसद वोट मिले हैं एवं कुल 70 में से 57सीटों पर जीत प्राप्त हुई है. यहाँ भी भारतीय जनतापार्टी को तीन चौथाई से अधिक के बहुमत का जनादेश मिला है. मणिपुर में भाजपा को मिली सफलता यह प्रमाणित करने के लिए प्रयाप्त है कि माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में उनके शासन की नीतियों की पहुँच देश के उन हिस्सों में भी व्यापक तौर पर हुई है, जहाँ भाजपा की स्थिति न के बराबर होती थी. मणिपुर विधानसभा चुनाव परिणाम इसका ताजा प्रमाण है. मणिपुर में पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा 2.1 फीसद वोट मिले थे और वहां की विधानसभा में भाजपा का प्रतिनिधित्व शून्य था. लेकिन विधानसभा चुनाव 2017 में अभूतपूर्व ढंग से भाजपा को 36.3 फीसद वोट मिले और 21 सीटों पर जीत हासिल हुई. वर्तमान में मणिपुर में भाजपा गठबंधन की सरकार है. गोवा चुनाव में भी भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व की सरकार बनी है. गोवा में भारतीय जनता पार्टी की वोट प्रतिशत सबसे ज्यादा है.  महाराष्ट्र निगम चुनावों में नौ महानगरपालिकाओं में से आठ में भारतीय जनता पार्टी को जीत मिली एवं मुंबई महानगर पालिका में भी भाजपा ने अबतक का सबसे अच्छा प्रदर्शन करते हुए 82 सीटों पर जीत दर्ज की. ओडिसा में हुए पंचायत चुनावों भाजपा ने अभूतपूर्व प्रदर्शन करते हुए प्रमुख विपक्षी दल के रूप में अपनी मजबूत स्थिति को कायम किया. यहाँ पर भाजपा ने कालाहांडी की सभी 9 सीटों पर जीत दर्ज की है. राजस्थान, दिल्ली, मध्यप्रदेश, हिमाचल, असाम में हुए विधानसभा उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी मिली जीत से हमारी विश्वास को और मजबूती मिली है. इन उपचुनाव में भी बंगाल में पार्टी की मत प्रतिशत में बढ़ोतरी पार्टी के विस्तार के लिए सुखद है.

      भाजपा के प्रति देश के कोने-कोने में जागृत हो रहा यह विश्वास केंद्र सरकार की नीतियों, योजनाओं और कार्यपद्धति के प्रति विश्वास का प्रतिफल है. नोटबंदी के बाद हुए इन सभी चुनावों में मिले जनादेश को भारतीय जनता पार्टी सरकार द्वारा पांच सौ और एक हजार के पुराने नोट बंद किए जाने के फैसले को मिले जनता के समर्थन के तौर पर भी देखती है. 17 राज्यों में भारतीय जनता पार्टी व राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन घटक दलों के मुख्यमंत्री हैं. सांसदों के साथ-साथ अब विधायक भी सर्वाधिक भारतीय जनता पार्टी के हैं.

राजग के 33दलों के साथ भाजपा का विकास संकल्प

भारतीय जनता पार्टी की विकास परक नीतियों को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के 33 दलों का साथ मिल रहा है. 33 दलों का यह गठबंधन भाजपा के विकास संकल्प की यात्रा में सहभागी है. देश के हर राज्य, हर क्षेत्र एवं हर समाज का प्रतिनिधित्व करने वाले दलों की भागीदारी वाला राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में पूरी एकजुटता के साथ काम कर रहा है. भारतीय जनता पार्टी केंद्र में और राज्यों में जहाँ जिस दल के साथ गठबंधन में है, उन्हें शासन में सहभागी बनाकर चलने की नीति का अनुपालन कर रही है. जहाँ भाजपा की अकेले की पूर्ण बहुमत वाली सरकार है, उन राज्यों में भी राज्यों के राजग के सहभागी दलों को सरकार का हिस्सा बनाकर भाजपा आगे बढ़ रही है. तमिलनाडु, केरल एवं उत्तरपूर्वी राज्यों में एनडीए के सहयोगी दलों की संख्या व ताकत में लगातार वृद्धि हो रही है. भारत के राजनीतिक इतिहास में प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में यह पहली बार हुआ है कि देश में पूरी निष्ठा से यह गठबंधन काम कर रहा है.

तीन वर्षों में गरीब कल्याण योजनाओं का सफल क्रियान्वयन

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में सबका साथ सबका विकास का संकल्प लेकर आम जन जीवन के हितों में जो तमाम योजनाएं शुरू की गयीं और उन योजनाओं के माध्यम से बदलाव को जमीन पर उतारा गया, यह विजययात्रा उन योजनाओं के सफल क्रियान्वयन का प्रमाण है. भाजपानीत केंद्र सरकार ने जनधन योजना के अंतर्गत 27.97 करोंड़ खाते खोलने का काम करके देश के उन लोगों को मुख्यधारा के अर्थतंत्र से जोड़ने का काम किया है, जो आजादी के पिछले सात दशकों में नहीं हो पाया था. इस योजना के तहत 63,885 करोंड़ रूपये इन खातों में जमा हुए. सरकार ने रोजगार और स्टार्टअप एवं स्टैंडअप योजना के तहत रोजगार क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए मुद्रा योजना के माध्यम से 6.6 करोड़ ऋण दिए. समाज के अंतिम छोर पर जीवन यापन करने वाले परिवारों की महिलाओं के जीवन स्तर में सुधार के लिए केंद्र सरकार ने उज्ज्वला योजना एक तहत लगभग 2 करोंड़ मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन दिए हैं. विद्युतीकरण के क्षेत्र भाजपानीत केंद्र सरकार ने अभूतपूर्व ढंग से काम किया है. आजादी के सात दशकों बीतने के बावजूद देश के 18 हजार से ज्यादा गाँव ऐसे थे, जहाँ बिजली का कनेक्शन नहीं था. सरकार ने 2018 तक सभी गांवों में बिजली कनेक्शन पहुंचाने के लक्ष्य क्र तहत काम करते हुए अभी तक 12586 गांवों को  बिजली से जोड़ने का काम पूरा कर लिया गया है. सरकार की उजाला LED योजना के तहत 11.8 करोंड़ lEDबल्ब वितरित किए गए जिससे 11330 करोंड़ की बचत हुई.  सरकार ने विशेष कर तटवर्ती क्षेत्र के मछुआरों के लिए विशेष ध्यान दिया है.  किसानों को फसल बीमा, मृदा स्वास्थ व प्रधानमंत्री सिंचाई योजना से सीधा लाभ पहुँचाया है. सरकार ने शत्रु संपति विधेयक पारित कराने का काम किया है. माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में लोक कल्याण को समर्पित योजनाओं के प्रतिफल में पार्टी जनादेश की कसौटी पर खरी उतरी है.

अर्थतंत्र में सुदृढ़ता से विकास को रफ्तार

  • जीएसटी पर सफलता: भारतीय जनता पार्टी जीएसटी पर मिली सफलता के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी एवं वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली को बधाई देती है. सामान और सेवा पर समान अप्रत्यक्ष कर प्रणाली को लागू कराने में मिली सफलता ऐतिहासिक है. इससे भारतीय अर्थतंत्र में आने वाली बाधाएं कम होंगी एवं अर्थव्यवस्था में व्यापक सुधार होगा. व्यापारिक सुगमता की दृष्टि से जीएसटी का लागू होना एक महत्वपूर्ण सफलता है. इसका सकारात्मक प्रभाव आम व्यक्ति पर पड़ेगा और व्यापार क्षेत्र में तेजी आएगी जिससे रोजगार के अनेक अवसर पैदा होंगे. जीएसटी के कारण महंगाई में भी कमी आएगी. आर्थिक सुधारों की दृष्टि से जीएसटी को पारित कराना भाजपानीत केंद्र सरकार की उपलब्धि है.
  • बजट 2017-18 : भारतीय जनता पार्टी केंद्र सरकार द्वारा पेश किए गए बजट 2017-18की सराहना करती है. यह बजट लोक कल्याण की मूल भावना का प्रतिबिंब होने के साथ-साथ आर्थिक ढाँचे को सुदृढ़ करने में भी सक्षम है. एक राष्ट्र एक बजट की तर्ज पर इसबार केंद्र सरकार ने रेल बजट को अलग से पेश करने की बजाय आम बजट के साथ ही पेश किया.सरकार द्वारा पहली बार अनुशासन के दायरे में1 फरवरी को बजट पेश होने से बजट वितरण एवं योजनाओं के कार्यान्वयन में तेजी आई है. रोजगार गारंटी के तहत खासकर ग्रामीण क्षेत्रों के लिए इस बजट के माध्यम से मनरेगा के लिए 11000 करोड़ की बढ़ोतरी करके 48000 करोड़ कर दिया गया है. निम्न मध्यम वर्ग को आयकर स्लैब्स में छूट देने का सरकार का निर्णय सराहनीय है. कुल 21.47 लाख करोंड़ के बजट में गरीब, मजदूर, दिव्यांग, महिला, बाल विकास, निर्माण क्षेत्र, रक्षा क्षेत्र, आधारभूत संरचना, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा, बीमा सुरक्षा सहित प्रत्येक मुद्दे को बारीकी से वरीयता दी गयी है. रक्षा क्षेत्र के लिए बजट से 2.74 लाख करोंड़, बुनियादी ढांचों के विकास के लिए 3.96 लाख करोंड़, हाइवे विकास के लिए 64000 करोंड़, महिला कल्याण फंड के तहत 1.86 लाख करोंड़, रेल सुरक्षा के लिए 1 लाख करोंड़ रुपए का प्रावधान रखा गया है. इसके अतिरिक्त इस बजट के तहत जन सरोकार से जुड़े अन्य तमाम लक्ष्यों जैसे- 1 मई 2018 तक देश के सभी गांवों में बिजली की उपलब्धता, किसानों को 10 लाख करोंड़ कर्ज, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2019 तक 1 करोंड़ परिवारों को आवास, महात्मा गांधी की 150वी जयंती तक 1 करोड़ गरीब परिवारों को गरीबी रेखा से ऊपर लाने जैसे तमाम लोक कल्याण को समर्पित लक्ष्य चिन्हित किए गए हैं. यह बजट केंद्र सरकार के लोक कल्याण के प्रति समर्पण को दिखाता है तो वहीँ दूसरी तरफ विकास एवं आधारभूत संरचना को मजबूत बनाने के प्रति संकल्पित नजर आता है.  आजादी के बाद पहली बार बजट को 31 मार्च से पहले पारित करके कियान्वित भी कर दिया है. जो देश के वित्तीय अनुशासन एवं आर्थिक विकास में बहुत बड़ा कदम है. 

 

  • चुनाव सुधार और चंदे में पारदर्शिता: माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने इस दिशा में ठोस पहल करते हुए राजनीतिक दलों के चंदे की नकदी सीमा को 20000 रुपए से कम करते हुए 2000 तक कर दिया. केंद्र सरकार का यह कदम चुनाव सुधार एवं चंदे में पारदर्शिता के लिहाज से महत्वपूर्ण कदम है.

 

रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता की ओर कदम

भारतीय जनता पार्टी वैचारिक रूप से ही रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता की पुरजोर पक्षधर रही है. प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत ने इस लक्ष्य को मजबूती से हासिल करते हुए, 1 मार्च 2017 को स्वदेश निर्मित सुपर सोनिक इंटरसेप्टर का सफल परीक्षण किया गया.

अन्तरिक्ष में भारत की धमक:

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के कुशल नेतृत्व में इसरो ने विश्व में पहली बारएक साथ 104 उपग्रहों का अन्तरिक्ष में सफल प्रक्षेपण करने का विश्व कीर्तिमान स्थापित किया. इसके पहले रूस ने 37 उपग्रह छोड़े थे. प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के कुशल नेतृत्व में विश्व पटल पर भारत का गौरव बढाने की दिशा में लगातार किया जा रहा उनका प्रयास गौरवान्वित करने वाला है. एक दौर था जब इस कार्य के लिए हम दूसरे देशों पर निर्भर थे लेकिन आत्मनिर्भरता का संकल्प लेकर काम कर रही भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने आत्मनिर्भरता की ओर मजबूत कदम रख दिया है और इसके लिए श्री नरेंद्र मोदी जी का नेतृत्व बधाई के योग्य है.

भीम एप:प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की सरकार आने के बाद से ही डिजिटल इण्डिया को लेकर व्यापक स्तर पर काम हुए हैं. नोटबंदी के बाद डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने भीम एप लांच किया जो कि काफी लोकप्रिय हो चुका है. शुरू के दौर में ही इस एप को इस्तेमाल करने वालों की संख्या सवा करोंड़ से ज्यादा हो गयी थी.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति:

भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति 2017 प्रस्तावित करने एवं इसे मंजूरी देने के लिए केंद्र सरकार के मंत्रिपरिषद को बधाई देती है. केंद्र सरकार ने इस स्वास्थ नीति के अंतर्गत दुर्गम बिमारियों को मुफ्त सरकारी सुविधा, दवा एवं जाँच को सस्ता एवं सुलभ करना, आयुष को मुख्यधारा में जोड़ना, बुजुर्गों को स्वास्थ सुविधा, स्वास्थ के सम्बंधित सभी सुविधाओं को सस्ता करके गरीबों तक उपलब्ध कराना जैसे लक्ष्यों के साथ एक व्यापक, समावेशी एवं समय के जरूरतों के हिसाब से इस नीति को तैयार किया है. अत्याधुनिक तकनीक के साथ-साथ परंपरागत प्रणालियों से सज्ज राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति 2017 स्वस्थ भारत  बनाने की दिशा में अचूक कार्यक्रम साबित होगी.

वैश्विक पटल पर चमकी भारत की साख

वर्ष में 2014 में भाजपा की सरकार आने और श्री नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से ही विश्व जगत में भारत की साख ऊँची हुई है. दुनिया की निगाहें अब भारत की ओर हैं. तमाम आंकड़े भारत को एक संभावनाओं का देश मानने लगे हैं. दुनिया के तमाम देशों से भारत के रिश्ते मजबूत हुए हैं. व्यापारिक, सामरिक एवं कुटनीतिक स्तर पर भारत की ताकत और साख में इजाफा हुआ है. इसकी एकमात्र वजह यह है कि वर्तमान में देश में एक मजबूत सरकार है जिसका नेतृत्व एक मजबूत नेता के हाथों में है. विश्व पटल पर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की प्रशासकीय कार्यशैली, लोक कल्याण को समर्पित नीतियों, मजबूत इच्छाशक्ति, सशक्त नेतृत्व की असीम क्षमता को पुरजोर स्वीकृति मिली है.

भारतीय जनता पार्टी सांसदों को 2014 में संसद के केन्द्रीय कक्ष में आयोजित पहली संसदीय बैठक को संबोधित करते हुए एवं दायित्व बोध का एहसास कराते हुए माननीय प्रधानमंत्री जी ने अपने संबोधन में कहा था कि “हम पद के लिए नहीं अपितु 125 करोड़ लोगों की आशा और आंकझाओं को पूरा करने के लिए समेट कर बैठे है, इसलिए पदभार जीवन में बहुत बड़ी बात होती है यह मैंने कभी नहीं माना,  लेकिन कार्यभार, जिम्मेवारी ये सबसे बड़ी बात होती है. हमें उसे परिपूर्ण करने के लिए अपने आप को समर्पित करना होगा.” माननीय प्रधानमंत्री जी के इन तीन वर्षों के कार्यकाल में उन्होंने अपनी कर्मठता से अपने इस शब्दों को जनता के विश्वास में बदल दिया है. यह कार्यकारिणी अपने कार्यकर्ताओं से आवाहन करती है कि सभी मिलकर पंडित दीनदयाल जन्मशताब्दी वर्ष में यह संकल्प लें की जनसेवा के द्वारा जन विश्वास हासिल करने में कार्यकर्त्ता परिश्रम की पराकाष्ठा करेंगे. भारतीय जनता पार्टी देश के जनता से भी आह्वान करती  है कि देश में विकास एवं गरीब कल्याण कार्यक्रमों की निरंतरता हेतु 2019 के चुनावों में  भी श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में प्रचंड बहुमत से सरकार बनाने हेतु संकल्पवान हो.

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।