प्रशांत भूषण ने पूछा, अपने स्क्वाड को एंटी कृष्णा स्क्वाड्स कहने की हिम्मत है योगी में?

रोमियो सिर्फ एक महिला से प्यार करता था, जबकि कृष्णा एक महान ईव टीज़र थे। क्या आदित्यनाथ को अपने एंटी रोमियो स्क्वाड को एंटी कृष्णा स्क्वाड्स कहने की हिम्मत है? - प्रशांत भूषण...

नई दिल्ली, 2 अप्रैल। सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता और स्वराज इंडिया के नेता प्रशांत भूषण ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के एंटी रोमियो स्क्वाड पर चुटकी लेते हुए कहा है कि रोमियो सिर्फ एक महिला से प्यार करता था, जबकि कृष्णा एक महान ईव टीज़र थे। क्या आदित्यनाथ को अपने एंटी रोमियो स्क्वाड को एंटी कृष्णा स्क्वाड्स कहने की हिम्मत है?

प्रशांत भूषण ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर लिखा

रोमियो सिर्फ एक महिला से प्यार करता था, जबकि कृष्णा एक महान ईव टीज़र थे। क्या आदित्यनाथ को अपने एंटी रोमियो स्क्वाड को एंटी कृष्णा स्क्वाड्स कहने की हिम्मत है?

हालांकि ट्विटर पर इस ट्वीट के वायरल होने के बाद दो अन्य ट्वीट करके श्री भूषण ने सफाई देते हुए कहा

रोमियो ब्रिगेड पर मेरा ट्वीट विकृत किया जा रहा है। मेरी स्थिति स्पष्ट है: रोमियो ब्रिगेड के तर्क से, भगवान कृष्ण भी एक छेड़ने वाला की तरह ही दिखेंगे।

उन्होंने कहा

हम युवा कृष्ण द्वारा गोपियों को चिढ़ाने की किंवदंतियों के साथ बड़े हुए हैं। रोमियो दस्ते का तर्क इन किंवदंतियों का अपराधीकरण करेगा। मेरा इरादा भावनाओं को आहत करना नहीं था।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।