राहुल के आरोपों से घिरा संघ परिवार, पेश करनी पड़ी सफाई शाखा में क्यों नहीं आती महिलाएं

सोशल मीडिया पर राहुल के सवालों को लेकर आरएसएस पर तंज कसा जा रहा है। इन आरोपों से बौखलाए संघ परिवार ने सफाई पेश की है। आरएसएस ने बताया कि आखिर संघ में महिलाओं का आना क्यों मना है।...

हाइलाइट्स

आरएसएस को पेश करनी पड़ी सफाई

RSS ने बताया, क्यों नहीं आती महिलाएं

महिलाओं के आरएसएस में शामिल ना होने के राहुल के आरोपों पर संघ पूरी तरह से घिर चुका है। तमाम विपक्षी दलों से लेकर सोशल मीडिया पर राहुल के सवालों को लेकर आरएसएस पर तंज कसा जा रहा है। इन आरोपों से बौखलाए संघ परिवार ने सफाई पेश की है। आरएसएस ने बताया कि आखिर संघ में महिलाओं का आना क्यों मना है।

दरअसल गुजरात दौरे पर राहुल गांधी ने आरएसएस को आड़े हाथों लेते हुए कहा था कि क्या आपने कभी संघ की शाखाओं में शॉर्ट्स पहने हुई महिलाओं को देखा है। इस सवाल के साथ राहुल ने संघ पर महिलाओं की उपेक्षा करने का आरोप लगाया था। राहुल के इन आरोपों पर जवाब देते हुए संघ विचारक मनमोहन वैद्य ने कहा कि आरएसएस शाखाओं पर पुरुषों के साथ काम करता है और उनके जरिए परिवारों से भी जुड़ता है।

वैद्य ने स्पष्ट किया कि आरएसएस के अन्य सभी संगठनों में महिलाओं की बराबर की भागीदारी है। उन्होंने कहा कि महिलाओं की भागीदारी पर हम अकसर बात करते हैं। लेकिन, शारीरिक खेलों और शाखाओं की टाइमिंग के चलते महिलाओं के लिए शाखा में शामिल होना संभव नहीं है। सुबह जल्दी उठकर शाखा जाना और वहां कठिन व्यायाम करना महिलाओं के लिए सहज नहीं है। ऐसे में महिलाओं की भागीदारी के लिए संघ का अतुलनात्मक संगठन राष्ट्र सेविका समिति काम करता है।

सेविका समिति की एक सीनियर पदाधिकारी ने कहा कि हम मिडल और लोअर मिडल क्लास की महिलाओं के बीच काम करते हैं। इन महिलाओं पर घर की जिम्मेदारी होती है, उसके बाद भी वह शाखा से जुड़ती हैं।

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।