लोकतंत्र और संविधान दोनों को खतरे में डाल दिया है सत्ता में काबिज लोगों ने

वकीलों और पत्रकारों की सुरक्षा संबंधी कानून लाएगी कांग्रेस : सचिन पायलट

देशबन्धु
Updated on : 2018-07-16 12:36:34

लोकतंत्र और संविधान दोनों को खतरे में डाल दिया है सत्ता में काबिज लोगों ने

वकीलों और पत्रकारों की सुरक्षा संबंधी कानून लाएगी कांग्रेस : सचिन पायलट

जयपुर, 16 जुलाई। राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा है कि अगर उनकी पार्टी इस वर्ष के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में जीतकर सत्ता में आती है तो पार्टी वकीलों और पत्रकारों की सुरक्षा के लिए कानून बनाएगी।

रविवार को कांग्रेस की राजस्थान इकाई के कानूनी सेल द्वारा आयोजित 'संविधान बचाओ, लोकंतत्र बचाओ' कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पायलट ने कहा कि वर्तमान में सत्ता में काबिज लोगों ने लोकतंत्र और संविधान दोनों को खतरे में डाल दिया है।

उन्होंने कहा,

"हालांकि, हम राज्य में सत्ता संभालने के बाद वकील सुरक्षा अधिनियम और पत्रकार सुरक्षा अधिनियम लाने का वादा करते हैं।"

पायलट के मुताबिक, सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों को यह साबित करने के लिए खुलकर सामने आना पड़ा कि वर्तमान सरकार लोकतंत्र के सिद्धांतों को बनाए रखने में दिलचस्पी नहीं रखती है और न ही लोकतंत्र के मूलभूत सिद्धांतों में वे विश्वास करते हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि भारतीय संविधान और लोकतंत्र ने दुनिया में एक बड़ा सम्मान हासिल किया है, हालांकि, वर्तमान समय में दोनों संस्थाएं खतरे के साए में हैं।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता मोहन प्रकाश ने कहा कि वकीलों को कानूनी मानदंडों के बारे में लोगों को जागरूक करके संविधान को बचाने के लिए आगे आने की जरूरत है।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव अविनाश पांडे के अनुसार, वकीलों को भारतीय जनता पार्टी के कदाचारों की जांच के लिए पहरेदारों के रूप में कार्य करने की जरूरत है।

संबंधित समाचार :