सेमी कंडक्टर प्लास्टिक सेंसर बताएगा अब स्वास्थ्य का हाल

स्नायु संबंधी रोगों की निगरानी में कारगर होगा सेंसर...

सेमी कंडक्टर प्लास्टिक सेंसर बताएगा अब स्वास्थ्य का हाल

सेमी कंडक्टर प्लास्टिक से निर्मित सेंसर अब स्वास्थ्य का हाल बताएगा। शोधार्थियों के मुताबिक, सेंसर गंभीर शारीरिक क्रियाएं की जानकारी दे सकता है। मसलन इससे पसीने, आंसू, लार और रक्त में ग्लूकोज के स्तर का पता चल सकता है। शोधार्थियों ने इस सेंसर के विकास की विधियों पर रिपोर्ट तैयार की है। उनके अनुसार, इसकी लागत भी कम होगी।

स्नायु संबंधी रोगों की निगरानी में कारगर होगा सेंसर

शोधार्थियों के अनुसार, सर्जरी से मरीज को होने वाली तकलीफों और स्नायु संबंधी रोगों की निगरानी के लिए यह सेंसर कारगर साबित होगा।

'साइंस एडवांसेस' नामक जर्नल में प्रकाशित शोध Direct metabolite detection with an n-type accumulation mode organic electrochemical transistor एक ऐसे डिवाइस का सुझाव दिया गया है जिसमें कोशिका स्तर पर स्वास्थ्य की निगरानी की जा सकती है।

मस्तिष्क में होने वाली मेटाबोलिक एक्टिविटी के बारे में बता सकती है यह डिवाइस

शोध के प्रमुख लेखक कैंब्रिज विश्वविद्यालय के अन्ना मारिया पप्पा के मुताबिक,

"रोगी के शरीर में बगैर आरोपित किए यह डिवाइस तनाव की स्थिति उसके मस्तिष्क में होने वाली मेटाबोलिक एक्टिविटी के बारे में बता सकती है।"

यह शोध अन्ना मारिया पप्पा, डेविड ओहोन, अलेक्जेंडर जियोवन्निट्टी, इलियाना पेट्रुटा मारिया, अचिलेस सावा, इल्के उगज़, जोनाथन रिवने, इयान मैककुलोक, रोइसिन एम ओवेन्स और सहिका ने संयुक्त रूप से किया।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।