सोनभद्र में खुलेंगे सात ईएसआई अस्पताल

उप्र के ईएसआई निदेशक से कानपुर में मिला वर्कर्स फ्रंट का प्रतिनिधिमण्डल...

उप्र के ईएसआई निदेशक से कानपुर में मिला वर्कर्स फ्रंट का प्रतिनिधिमण्डल

अनपरा, सोनभद्र, 6 जुलाई 2017, यूपी वर्कर्स फ्रंट के प्रदेश अध्यक्ष दिनकर कपूर के नेतृत्व में प्रतिनिधिमण्डल ने कानपुर में कर्मचारी राज्य बीमा (ईएसआई) के उप्र के निदेशक ए पी त्रिपाठी से मुलाकात कर सोनभद्र जनपद के औद्योगिक केन्द्रों में ईएसआई अस्पताल खोलने, ईएसआई के तहत अंशदान कटा रहे मजदूरों को पंजीकरण कार्ड देने और जनपद में अभियान चलाकर ठेका, कैजुअल, क्रशर व खनन में लगे हजारों मजदूरों को ईएसआई लाभ देने की मांगों से सम्बंधित पत्रक दिया और विस्तार से श्रमिकों की समस्याओं पर बातचीत की।

प्रतिनिधिमण्डल में ठेका मजदूर यूनियन जिला उपाध्यक्ष राम नरेश यादव, कुलदीप पाल रहे।

फ्रंट की विज्ञप्तिके अनुसार मांगों पर सहमति व्यक्त करते हुए निदेशक ने प्रतिनिधिमण्डल को बताया कि सोनभद्र जनपद में अनपरा, रेनुसागर, शक्तिनगर, बीजपुर, ओबरा, डाला और चुर्क में प्राथमिक चिकित्सा और ईएसआई लाभों के लिए स्वास्थ केन्द्र खोले जाने का निर्णय हो चुका है और जिलाधिकारी को इसके लिए जमीन आवंटित करने का निर्देश भी दिया जा चुका है। जमीन आवंटित होते ही इस कार्य को शुरू कर दिया जायेगा। जब तक यह नहीं होता तब तक परियोजना व औद्योगिक प्रतिष्ठानों के अस्पतालों और एमबीबीएस निजी चिकित्सकों से अनुबंध करके ईएसआई के लाभों का कार्य सम्पादित किया जायेगा।

प्रतिनिधिमण्डल द्वारा हिण्डालको रेनुसागर पावर डिवीजन द्वारा श्रमिकों से ईएसआई अंशदान की कटौती वसूलने के बाद भी श्रमिकों को पंजीकरण कार्ड न देने की शिकायत पर निदेशक ने कहा कि यह अत्यंत गम्भीर विषय है और इस पर तत्काल प्रबंधन को कारण बताओं नोटिस जारी किया जायेगा और यदि प्रबंधन ने बिना पंजीकरण के ही अंशदान कटौती की है तो यह दण्डनीय अपराध है और इसमें एक साल तक कारावास की सजा हो सकती है।

निदेशक ने आश्वस्त किया कि सोनभद्र में अभियान चलाकर ठेका/कैजुअल व क्रशर श्रमिकों व 21000 रू0 से कम वेतन वाले सभी श्रमिकों का ईएसआई में पंजीकरण करा कर उसका लाभ दिया जायेगा।

वर्कर्स फ्रंट के प्रतिनिधिमण्डल ने निदेशक को आश्वस्त किया कि सोनभद्र जनपद में कर्मचारी राज्य बीमा योजना लागू कराने के लिए हर सम्भव सहयोग दिया जायेगा। गौरतलब है कि यूपी वर्कर्स फ्रंट और ठेका मजदूर यूनियन द्वारा जनपद के ठेका, कैजुअल व खनन श्रमिकों को ईएसआई लाभ के लिए लम्बे समय से आंदोलन चलाया जा रहा है। ठेका मजदूर यूनियन के पत्र पर ही पूर्ववर्ती सरकार में प्रमुख सचिव (श्रम) ने सचिव श्रम भारत सरकार को पत्र लिखकर सोनभद्र जनपद में ईएसआई योजना शुरू करने का आग्रह किया था। इसके बाद वर्कर्स फ्रंट के प्रदेश अध्यक्ष दिनकर कपूर ने महानिदेशक ईएसआई भारत सरकार नई दिल्ली को पत्रक दिया था जिस पर कार्यवाही करते हुए प्राथमिक स्वास्थ्य के इलाज के लिए अस्पताल बनाने का निर्णय हुआ है।

Seven ESI hospitals to be opened in Sonbhadra

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।