बुआ-बबुआ गठबंधन की गाँठ पड़ी ढीली, तो वामन मेश्राम और शिवपाल आएंगें एक मंच पर

योगी सरकार की बहुजन विरोधी नीतियों के विरोध में बहुजन क्रांति मोर्चा द्वारा आगामी 27 सितंबर को सहारनपुर में आयोजित सभा में शिवपाल सिंह यादव मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित रहेंगे...

बुआ-बबुआ गठबंधन की गाँठ पड़ी ढीली, तो वामन मेश्राम और शिवपाल आएंगें एक मंच पर

अमलेन्दु उपाध्याय

नई दिल्ली, 25 सितंबर। बुआ-बबुआ गठबंधन के रूप में जाना जा रहा समाजवादी पार्टी-बहुजन समाज पार्टी गठबंधन तो दोनों दलों की स्वार्थलिप्सा में फिलहाल खटाई में पड़ गया है, लेकिन बामसेफ के नेता वामन मेश्राम और समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के नेता शिवपाल सिंह यादव मंच साझा करने जा रहे हैं।

समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के प्रवक्ता अरविन्द विद्रोही ने हस्तक्षेप को बताया कि योगी सरकार की बहुजन विरोधी नीतियों के विरोध में बहुजन क्रांति मोर्चा द्वारा आगामी 27 सितंबर को सहारनपुर में आयोजित सभा में शिवपाल सिंह यादव मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित रहेंगे।

विद्रोही ने हस्तक्षेप से कहा कि हमने सरकारों की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ एक निर्णायक लड़ाई का ठाना है। समाजवादी सेक्युलर मोर्चा संगठन गठन के त्वरित कार्य के साथ-साथ हम सरकार के मनमाने रवैये के खिलाफ जनता को जागरूक करके, संगठित करके एक सशक्त विपक्ष की भूमिका निभाएंगे।

सपा मुखिया अखिलेश यादव का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि हम वातानुकूलित कमरों - सभागारों में ही बैठकर कम्पनी प्रबंधकों के ही भरोसे मात्र छवि चेहरा चमकाने वाली राजनीति में लेशमात्र भी विश्वास नहीं करते हैं। हम जनता के हित के लिए सड़क पर संघर्ष करने वाली गौरवशाली समाजवादी परम्परा का पालन - निर्वाहन करते रहेंगे।

उन्होंने कहा कि हमारे मन में किसी भी व्यक्ति या संगठन के प्रति किसी भी तरह का कोई भी व्यक्तिगत दुराव नहीं है। राजनैतिक मतभेद होना स्वाभाविक है और वो हैं भी। हम प्रतिबद्ध और संकल्पित-समर्पित हैं जनहित के लिए संघर्ष करने को। इसी संकल्प के तहत सरकार की बहुजन विरोधी नीतियों के विरोध में बहुजन क्रांति मोर्चा द्वारा दिनाँक 27 सितंबर,2018 गुरुवार को प्रातः 10 बजे से साउथ सिटी ग्राउण्ड, निकट हसनपुर चौक दिल्ली रोड सहारनपुर, उप्र में आयोजित महारैली में समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के अगुआ शिवपाल सिंह यादव जी बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करेंगे। सहारनपुर में आयोजित इस महारैली की अध्यक्षता वामन मेश्राम जी करेंगे।

मोर्चा के प्रवक्ता ने कहा कि आमजन की हितों की मुखरित आवाज बनने के लिए भाजपा की सरकारों के विरुद्ध शिवपाल सिंह यादव के कुशल सांगठनिक नेतृत्व में समाजवादियों का काफिला निकल चुका है।

बता दें कि जहाँ शिवपाल सिंह यादव प्रदेश भर में उपेक्षित समाजवादियों को समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के बैनर तले इकट्टा कर रहे हैं, वहीं वामन मेश्राम दलितों के सबसे बड़े संगठन बामसेफ के नेता हैं, जिससे कांशीराम ने अपना राजनीतिक सफर शुरू किया था। राजनीतिक विश्लेषकों के मुताबिक यदि शिवपाल और मेश्राम का मंच साझा करना आने वाले समय में किसी राजनीतिक गठबंधन में बदलता है तो बुआ-बबुआ और भाजपा के लिए बहुत मुश्किलें पैदा करने वाला होगा।  

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।