नेता जी की पार्टी लफंगों-चिरकुटों, भितरघातियों और दलालों की पार्टी कभी नहीं बनेगी, चिरकुट तुम्हें मुबारक अखिलेश

नेता जी की पार्टी लफंगों-चिरकुटों, भितरघातियों और दलालों की पार्टी कभी नहीं बनेगी, ये दलाल- चिरकुट तुम्हें मुबारक अखिलेश अरविन्द विद्रोही समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मुलायम सिंह यादव ( पूर्व मुख्यमंत्री उप्र - पूर्व रक्षा मंत्री भारत सरकार ) ने ठिठके पड़े समाजवादी आंदोलन को गति देने का ऐतिहासिक कार्य किया है। सामंती ताकतों - पूंजीपतियों के मुकाबिल खड़े होने वाले मुलायम सिंह यादव सामाजिक न्याय के एक सफल योद्धा हैं। नेता जी के साथ उनके द्वारा किये गए सामाजिक राजनैतिक संघर्ष में अनेकोनेक लोगों ने अपना सम्पूर्ण जीवन होम किया। नेता जी मुलायम सिंह यादव ने ग्रामीण जनमानस, शहरी आम जन को उपेक्षा और तिरस्कार पूर्ण जीवन शैली से निकालकर इज़्ज़त स्वाभिमान पूर्ण जीवन शैली की तरफ ले आने का महती कार्य किया। ग्रामीण तबके के मेहनतकश जातियों को सामंती ताकतें जातीय - आर्थिक कारणों से दबाने कुचलने का कुत्सित कार्य करती चली आ रही थी जिसके विरुद्ध संघर्ष की समाजवादी सोच परंपरा को मूर्त रूप देते हुए समाजवादी पुरोधा श्री मुलायम सिंह यादव ने ग्रामीण मन को, आम जन को,  मेहनतकश तबके को यह विश्वास दिलाया कि इन सामंती पूँजीपति ताकतों से लड़कर हम ओन हक और गौरव हासिल कर सकते। और एक सामाजिक राजनैतिक संघर्ष हुआ नेता जी के नेतृत्व में। ध्यान रखना समाजवादी साथियों .... नेता जी ने आम जन के लिए संघर्ष की राह पकड़ी जिनसे संघर्ष किया वे हर मोर्चे पर सशक्त थे। परंतु समाजवादी योद्धा हम सबके पितृ तुल्य अभिभावक धरतीपुत्र मुलायम सिंह यादव ने डॉ लोहिया के संकल्पों -विचारों की डोर को मजबूती से पकड़ रखा था, उन्होंने आत्मसात कर लिया था जननायक जयप्रकाश नारायण के संघर्ष को, नेता जी ने खुद के रक्त में, मनो मस्तिष्क में प्रवाहित कर रखा था किसान मसीहा चौधरी चरण सिंह के एक एक शब्द को। और इसकी परिणीति यह थी कि सामाजिक राजनैतिक युद्ध में हमारे अगुआ हमारे नेता मा नेता जी संघर्ष के प्रतीक बनकर स्थापित हुए। नेता जी का मार्ग सत्ता नहीं वरन् जनता के लिए संघर्ष का मार्ग सदैव रहा। साथियों ..... हमारे नेता जी के विरुद्ध, उनके संघर्ष के साथियों के विरुद्ध एक व्यापक दुष्प्रचार किया गया और उस दुष्प्रचार को पुनः एक सुनियोजित षड्यंत्र के तहत हवा देने का कार्य किया जा रहा है। हमें इस षड्यंत्र के खिलाफ मुकाबिल होना है। यह षड्यंत्र है नेता जी और उनके द्वारा स्थापित पार्टी को बदनाम करने का, उसको गुंडों अपराधियों की पार्टी बताने का।। हम यह षड्यंत्र भी हम भाँप चुके हैं और समझ चुके हैं कि नेता जी पर उनकी समाजवादी पार्टी पर यह पुराना मिथ्या आरोप किस विद्वान् षड्यंत्रकारी के इशारे पर लगाया जा रहा है। यह अफसोसजनक एवं दुर्भाग्यपूर्ण है कि यह साबित करने की कुचेष्टा हो रही है कि नेता जी की समाजवादी पार्टी गुंडों अपराधियों की पार्टी थी, उसकी पहचान गुंडों अपराधियों की थी, उसकी छवि गुंडों अपराधियों के दल की थी। माफ़ करना यह दुष्प्रचार करने वालों कि नेता जी की पार्टी समाजवादी पार्टी गुंडों अपराधियों की थी और किसी ने उसको गुंडों अपराधियों से मुक्त करने का प्रयास किया। यह गलतबयानी बर्दाश्त नही किया जायेगा। समाजवादी पार्टी नेता जी के नेतृत्व में अपने हक के लिए संघर्ष करने वालों की पार्टी है। नेता जी और नेता जी के लोग जिन्होंने डॉ लोहिया, जेपी, चरणसिंह का मार्ग चुना है वो लड़ते हैं शासन प्रशासन से, वे संघर्ष करते हैं सत्ता में मदमस्त सत्ता धारियों और सामंती पूंजीपतियों से ..... असल समाजवादी सड़क पर आम जन की बुनियादी सुविधाओं से लेकर स्वाभिमान की लड़ाई के लिए मुकाबिल होता है और जब सत्ता - सामंती ताकते - पूंजीवादी ताकतें परास्त होने लगती हैं तो उतर आती हैं अपने मिथ्या दोषारोपण और दुष्प्रचार पर कि देखो देखो अरे सुनो सुनो ....समाजवादी पार्टी के लोग गुंडे है, अपराधी हैं ...... अन्याय के खिलाफ विद्रोह न्याय संगत है और नेता जी सदैव अन्याय के खिलाफ खड़े हुए और उनके साथ खड़े हुए समाजवादी। तुम लगाते रहो नेता जी और उनके द्वारा स्थापित समाजवादी पार्टी पर गुंडों अपराधियों की पार्टी होने का आरोप लेकिन ध्यान रखना नेता जी की पार्टी लफंगों - चिरकुटों, भितरघातियों और दलालों की पार्टी कभी नहीं बनेगी  .... नेता जी और नेता जी की समाजवादी पार्टी संघर्षो की पार्टी थी है और रहेगी ..... जाओ और कुर्सी के लिए सत्ता के लिए जितना दुष्प्रचार कर सको तुम करते रहो ..... हमारे नेता श्री मुलायम सिंह यादव थे हैं और रहेंगे। समाजवादी पार्टी उनकी थी उनकी है और उनकी रहेगी। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष वे थे हैं और रहेंगे। डॉ लोहिया अमर रहे ...जय समाजवाद ..जय मुलायम.... http://www.hastakshep.com/hindi/intervention-hastakshep/ajkal-current-affairs/2017/01/04/akhilesh-yadav-samajwadi-party-mulayam-singh-yadav http://www.hastakshep.com/hindi/news/from-states/uttar-pradesh/2017/01/02/ramgopal-yadav-mulayam-singh-yadav-akhilesh-yadav   http://www.hastakshep.com/hindi/news/from-states/uttar-pradesh/2017/01/03/5-kalidas-marg-aurangzeb-amit-jani-aurangzeb      

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
क्या मौजूदा किसान आंदोलन राजनीति से प्रेरित है ?