एमिटी विश्वविद्यालय में शुरू हुई नार्थ जोन इंटर यूनिवर्सिटी चेस टूर्नामेंट (महिला)

inauguration of North Zone Inter University Girls Chess Tournament at Amity University...

एजेंसी
एमिटी विश्वविद्यालय में शुरू हुई नार्थ जोन इंटर यूनिवर्सिटी चेस टूर्नामेंट (महिला)

उत्तरी भारत से लगभग 26 टीमों ने लिया हिस्सा

नोएडा, 16 अक्तूबर। एमिटी विश्वविद्यालय एवं एसोसिएशन ऑफ इंडियन यूनिवर्सिटी द्वारा आज से महिलाओं के नार्थ जोन इंटर यूनिवर्सिटी चेस टूर्नामेंट का आयोजन एमिटी विश्वविद्यालय के एफ ब्लाक सभागार में किया गया। इस त्रिदिवसीय चेस टूर्नामेंट का शुभारंभ दिल्ली चेस एसोसिएशन के इंटरनेशनल आर्टिबटर श्री गुरूदयाल प्रजापति, एमिटी विश्वविद्यालय उत्तर प्रदेश की वाइस चांसलर डा (श्रीमती) बलविंदर शुक्ला एवं एमिटी स्कूल ऑफ फिजिकल एजुकेशन एंड स्पोर्टस सांइसेस की निदेशिका डा कल्पना शर्मा ने किया।

इस नार्थ जोन इंटर यूनिवर्सिटी चेस टूर्नामेंट में चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ, लवली प्रोफेशनल विश्वविद्यालय, देशबंधु छोटूराम यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी  सोनीपत, हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी अमृतसर, छत्रपति साहू जी महाराज विश्वविद्यालय कानपुर, डीएवी विश्वविद्यालय जालंधर आदि सहित लगभग 26 टीमें हिस्सा ले रही है।

दिल्ली चेस एसोसिएशन के इंटरनेशनल आर्टिबटर श्री गुरूदयाल प्रजापति ने जानकारी देते हुए बताया कि हर टीम को छह रांउड खेलने होगे और मैच स्वीस फार्मेट पर आधारित होगा। इस टूर्नामेंट में नियम कानूनों की जानकारी भी उन्होंने खिलाड़ियों को दी। श्री प्रजापति ने कहा कि शतरंज का खेल आपकी बुद्धिमता की ताकत को पोषण प्रदान करता है और व्यक्ति की मानसिक क्षमता, धैर्य धारण की क्षमता का विकास करता है। यह आपके अकादमिक शिक्षण को बेहतरीन बनाता है। उन्होंने कहा कि एमिटी विश्वविद्यालय में आयोजित नार्थ जोन इंटर यूनिवर्सिटी चेस टूर्नामेंट में विजयी टीम को राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली चेस प्रतियोगिता में खेलने का मौका मिलेगा।

एमिटी विश्वविद्यालय उत्तर प्रदेश की वाइस चांसलर डा (श्रीमती) बलविंदर शुक्ला ने खिलाड़ियों एवं खेल मैनेजरों को संबोधित करते हुए कहा कि एमिटी विश्वविद्यालय छात्रों के सर्वांगीण विकास हेतु प्रतिबद्ध है इसलिए छात्रों को रुचि के अनुसार विभिन्न खेल खेलने एवं प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। वर्तमान समय में मात्र शिक्षण की डिग्री ही मायने नहीं रखती आज यह भी देखा जाता है कि अतिरिक्त पाठ्येत्तर गतिविधियों से छात्रों के पास कौन से कौशल है। शतरंज एक ऐसा खेल है जो जीवन में आगे बढ़ने में सहायक होता है। आप रणनीति कौशल बनाने के गुण सहित शीघ्र एवं सही निर्णय लेने के गुण को इस खेल के माध्यम से विकसित करते है। खेलों में हार जीत से अधिक मायने हिस्सा लेना और पूरी ईमानदारी से खेलना है।

एमिटी स्कूल ऑफ फिजिकल एजुकेशन एंड स्पोर्टस सांइसेस की निदेशिका डा कल्पना शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि इस नार्थ जोन इंटर यूनिवर्सिटी चेस टूर्नामेंट में आज दो मैच के राउंड होंगे वही कल भी मैच के तीन रांउड होंगे और मैच के आखिरी दिन एक रांउड मैच होंगे। इस नार्थ जोन इंटर यूनिवर्सिटी चेस टूर्नामेंट का निरीक्षण दिल्ली चेस एसोसिएशन के अधिकारियों द्वार किया जायेगा।

इस अवसर पर एमिटी स्कूल ऑफ फिजिकल एजुकेशन एंड स्पोर्टस सांइसेस के शिक्षक गण एवं छात्र गण उपस्थित थे।

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।