दलित छात्र की हत्या के विरोध में माले का राज्यव्यापी प्रतिवाद 15 फरवरी को

लखनऊ, 14 फरवरी। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) दलित छात्र दिलीप सरोज की इलाहाबाद में पीट-पीट कर की गई हत्या और योगी सरकार में दलितों के बढ़ते उत्पीड़न के खिलाफ 15 फरवरी को राज्यव्यापी विरोध दिवस मनायेगी। विरोध दिवस पर पार्टी धरना-प्रदर्शन करेगी।

पार्टी के राज्य सचिव सुधाकर यादव ने कानून की पढ़ाई कर रहे छात्र की पिटाई से मौत पर गहरा शोक प्रकट किया। दलितों पर हमले की बढ़ती घटनाओं के लिए योगी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि सहारनपुर के शब्बीरपुर से शुरू हुआ सिलसिला थम नहीं रहा है। दलित उत्पीड़न के मामलों में योगी सरकार के रवैये से हमलावरों का मनोबल बढ़ता ही जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमले की घटनाओं में खराब कानून व्यवस्था एक कारण है, लेकिन दलितों के मामले में योगी सरकार का प्रतिगामी नज़रिया व व्यवहार कहीं बड़ा कारण है। थानों में दलितों की सुनवाई बिरले ही हो रही है और उन्हें न्याय मिलना तो दूर की कौड़ी हो गयी है।

माले नेता ने दिलीप सरोज के हत्यारों को फौरन गिरफ्तार करने, शोक-संतप्त परिवार को मुआवजा राशि 50 लाख रु देने, दलित उत्पीड़न के मामलों में त्वरित न्याय दिलाने और हमले की घटनाओं पर प्रभावी रोक की मांग की।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।