एम. वेंकैया नायडू बने देश के 13वें उपराष्ट्रपति

संघ की बल्ले-बल्ले, 3 सर्वोच्च पदों पर स्वयंसेवक विराजमान, एम. वेंकैया नायडू बने देश के 13वें उपराष्ट्रपति ...


नई दिल्ली। भाजपा नेता एम. वेंकैया नायडू देश के 13वें उपराष्ट्रपति बन गए हैं।

नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।

इस अवसर पर पूर्व प्रधानमंत्री डॉ.मनमोहन सिंह, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी उपस्थित थे।

एम वेंकैया नायडू ने आज शपथ ग्रहण से पहले राजघाट स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि जाकर उन्हें नमन किया।

एम वेंकैया नायडू का सियासी सफर

वेंकैया नायडू का जन्म 1 जुलाई, 1949 को आंध्रप्रदेश के नेल्लोर जिले में हुआ। नेल्लोर से स्कूली पढ़ाई पूरी करने के बाद वहीं से राजनीति विज्ञान में स्नातक किया। विशाखापट्टनम के लॉ कॉलेज से अंतरराष्ट्रीय कानून में डिग्री ली।

नायडू कॉलेज के दौरान ही राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़ गए। वे पहली बार 1972 में जय आंध्रा आंदोलन से सुर्खियों में आए। 1975 में आपातकाल में जेल भी गए थे।

वे 29 साल की उम्र में 1978 में पहली बार विधायक बने। 1983 में भी विधानसभा पहुंचे और धीरे-धीरे राज्य में भाजपा के सबसे बड़े नेता बनकर उभरे। भाजपा में विभिन्न पदों पर रहने के बाद नायडू पहली बार कर्नाटक से राज्यसभा के लिए 1998 में चुने गए। इसके बाद से ही 2004, 2010 और 2016 में वह राज्यसभा सदस्य बने।

अब देश के तीनों सर्वोच्च पदों राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति व प्रधानमंत्री पर आरएसएस के स्वयंसेवक पदासीन हैं।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।