ये भी 70 साल में पहली बार ! सर्वोच्च न्यायालय ने सीबीआई के अंतरिम चीफ को दी एक दिन की सजा

This is also the first time in 70 years! Supreme Court sentences one-day punishment to interim Chief of CBI. ये भी 70 साल में पहली बार ! सर्वोच्च न्यायालय ने सीबीआई के अंतरिम चीफ को दी एक दिन की सजा...

नई दिल्ली, 12 फरवरी। एक महत्वपूर्ण घटना में माननीय उच्चतम न्यायालय Honorable Supreme Court ने शीर्ष अदालत की अवमानना Contempt of apex court में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के चहेते और सीबीआई के अंतरिम चीफ नागेश्वर राव (Interim Chief of CBI Nageshwar Rao) को सजा सुनाई है।   

मीडिया में आई रिपोर्ट्स के मुताबिक माननीय उच्चतम न्यायालय ने नागेश्वर राव को पूरा दिन एक कोने में कोर्ट में ही बैठे रहने की सजा दी।

मुख्य न्यायधीश न्यायमूर्ति रंजन गोगोई ने कहा, "अवमानना तो हुई है... सो, उनके (CBI के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव के) करियर पर दाग तो लगेगा..."

अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने रहम की अपील करते हुए कहा,

"उनका 32 साल का बेदाग रिकॉर्ड रहा है... कृपया कुछ रहमदिली दिखाएं, क्योंकि उन्होंने माफी भी मांग ली है..."

इसके बाद शीर्ष अदालत ने नागेश्वर राव को पूरा दिन एक कोने में कोर्ट में ही बैठे रहने की सजा दी।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।