ट्विटर पर उठी आवाज़- डोभाल को हटाओ, टॉप ट्रेंड कर रहा #SackDoval

एक ट्विटर उपभोक्ता झा द लाइट ने लिखा कुछ दिन पहले किसी पागल ने कहा था कि नोटबंदी नक्सलियों का कमर तोड़ देगी।...

ट्विटर पर उठी आवाज़- डोभाल को हटाओ, टॉप ट्रेंड कर रहा #SackDoval

छत्तीसगढ़ के सुकमा में कल नक्सलीहमले में सीआरपीएफ के जवानों के मारे जाने पर सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा निकलकर सामने आया और सुबह-सुबह माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के खिलाफ मुहिम छिड़ गई और हैशटैग #SackDoval टॉप ट्रेंड करने लगा।  

एक ट्विटर उपभोक्ता अयोध्या तिवारी ने लिखा

छत्तीसगढ़ नक्सली हमले ने हमारी खुफिया एजेंसियों की अक्षमता कीपोल खोल दी। डोभाल को हटाओ

एक ट्विटर उपभोक्ता झा द लाइट ने लिखा

कुछ दिन पहले किसी पागल ने कहा था कि नोटबंदी नक्सलियों का कमर तोड़ देगी।

एक ट्विटर उपभोक्ता  truth_nation ने लिखा

#SackDoval नहीं, यह गलत है। डोभाल सर्वोत्तम है। समस्या भाजपा सरकार है जो हमेशा आक्रामक मुद्रा की जगह रक्षात्मक रवैया अपनाती है।

अभिनेत्री सीमा ने कहा

हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा इस सरकार के तहत बेहद कमजोर दिख रही है! #SackDoval उन्हें विफलता स्वीकार करनी ही होगी

एक ट्विटर उपभोक्ता साहिल गेरा ने लिखा

उड़ी से पठानकोट होते हुए सुकमा तक केवल विफलता ही रही

एक ट्विटर उपभोक्ता ग़ज़नफर क़ैसरानी ने लिखा

अल्लह का शुक्रिया कि छत्तीसगढ़ पाकिस्तान केनज़दीक नहीं है अन्यथा सारे हिंदुस्तानी डोवाल को हटाने के बजाय पाकिस्तान को दोष देते।

एक ट्विटर उपभोक्ता ने अमरजीत राठौड़

कोई राजनीतिक तार नहीं, दो गलतियां हैं

1. दो महीने से #सीआरपीएफ का कोई प्रमुख नहीं है

2. तीन सौ नक्सलियों के मूवमेंट का पता लगाने में खुफियातंत्र की विफलता

डोभाल को हटाओ

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
क्या मौजूदा किसान आंदोलन राजनीति से प्रेरित है ?