बोले यूएन महासचिव गुटेरेस, जलवायु प्रभाव शमन की योजना पुन:परिभाषित करें देश

इस बात पर सहमति जताते हुए कि जलवायु परिवर्तन में कमी लाने का लक्ष्य पटरी पर नहीं है, गुटेरेस ने कहा कि अगले वर्ष सितंबर में न्यूयॉर्क में होने वाला सम्मेलन 'हमें पटरी पर लाने में मदद करेगा।'...

एजेंसी
बोले यूएन महासचिव गुटेरेस, जलवायु प्रभाव शमन की योजना पुन:परिभाषित करें देश

UN chief asks nations to redefine climate mitigation plans

काटोवीस(पोलैंड), 4 दिसम्बर (आईएएनएस)| संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने मंगलवार को देशों से जलवायु प्रभाव के शमन के लिए राष्ट्रीय स्तर पर संकल्पित योगदान(एनडीसी) को फिर से परिभाषित करने और पेरिस समझौते के तहत लक्ष्यों को प्राप्त करने का आह्वान किया। इस समझौते के तहत लक्ष्य प्राप्ति के लिए अमीर देशों द्वारा 2020-2025 तक 100 अरब डॉलर की राशि भुगतान करने का प्रावधान है।

संयुक्त राष्ट्र जलवायु समझौते(सीओपी24) में अपने संबोधन में गुटेरेस ने कहा, "हमें एक स्पष्ट पहल की जरूरत है, न केवल राष्ट्रीय सरकारों से, बल्कि अन्य कारकों जैसे उप-राष्ट्रीय सरकारों, व्यवसायियों और निवेशकों से भी।"

गुटेरेस ने न्यूयॉर्क में प्रस्तावित 2019 जलवायु सम्मेलन के लिए अपना दृष्टिकोण सामने रखते हुए कहा,

"आने वाले सालों में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम, संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन प्रारूप संकल्प (यूएनएफसीसीसी), और मेरी टीम राष्ट्रीय सरकारों को समर्थन करेगी, क्योंकि वे अपने एनडीसी और अपनी दीर्घकालिक रणनीति को पुन: परिभाषित करेंगे।"

उन्होंने कहा,

 "मैं सभी नेताओं से न केवल पेरिस समझौते के तहत प्राप्त लक्ष्यों की दिशा में प्रगति के बारे में बताने, बल्कि उनकी महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने के लिए उनकी योजनाओं और प्रगति के बारे में रोशनी डालने के लिए भी यहां सम्मेलन में आमंत्रित करता हूं।"

What is paris agreement

पेरिस समझौता 2015 में अपनाया गया था, जोकि जलवायु परिवर्तन में कमी लाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम था। इस समझौते के तहत वैश्विक औसत तापमान को दो डिग्री से कम रखने और इसे यथासंभव 1.5 डिग्री सेल्सियस तक लाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था।

इस बात पर सहमति जताते हुए कि जलवायु परिवर्तन में कमी लाने का लक्ष्य पटरी पर नहीं है, गुटेरेस ने कहा कि अगले वर्ष सितंबर में न्यूयॉर्क में होने वाला सम्मेलन 'हमें पटरी पर लाने में मदद करेगा।'

अपने एजेंडे को रेखांकित करते हुए गुटेरेस ने कहा कि सम्मेलन में तीन महत्वपूर्ण नतीजों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा : वास्तविक महत्वाकांक्षा को बढ़ाना, वास्तविक अर्थव्यवस्था में परिवर्तनकारी कार्रवाई और नागरिकों व युवाओं को इसमें अभूतपूर्व रूप में शामिल करना।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।