यूपी : सत्ता सरंक्षण में हुए मोहर्रम के जुलूसों पर हमले- रिहाई मंच

निकाय चुनाव में साम्प्रदायिक हिंसा के जरिए भाजपा कराना चाहती है ध्रुवीकरण

रिहाई मंच करेगा घटनास्थलों का दौरा

लखनऊ 2 अक्टूबर 2017। रिहाई मंच ने मोहर्रम के अवसर पर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में हुई साम्प्रदायिक हिंसा की घटनाओं को सरकार के सरंक्षण में साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण कराने की साजिश का हिस्सा बताया है। रिहाई मंच ऐसे इलाकों का दौरा करेगा।

रिहाई मंच द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में लखनऊ रिहाई मंच प्रवक्ता अनिल यादव ने बलिया के सिकंदरपुर, कानपुर के जूही थाना अंतर्गत परमपुरवा और कल्याणपुर थाना अंतर्गत रावतपुर, अम्बेडकरनगर, बलरामपुर, कुशीनगर में मोहर्रम के अवसर पर संघ गिरोह और भाजपा से जुड़े अराजक तत्वों द्वारा ताजिया जुलूसों पर हमलों को निकाय चुनाव की तैयारी का हिस्सा बताया है।

उन्होंने कहा कि बलिया के सिकंदरपुर में हुई हिंसा के वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि मुसलमानों पर पुलिस की मौजूदगी में दंगाई पत्थरबाजी कर रहे हैं। इसी तरह कानपुर में पुलिस पीड़ित मुसलमानों को ही फंसा रही है।

अनिल यादव ने बताया कि रिहाई मंच जल्द ही इन घटनास्थलों का दौरा करेगा

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।