मत खोजो विकास की चिड़िया को : भाजपा ने ही बताया दिया फुर्र हो चुकी है

कांग्रेस ने कहा धन्यवाद भाजपा सच को स्वीकार करने के लिए...

मत खोजो विकास की चिड़िया को : भाजपा ने ही बताया दिया फुर्र हो चुकी है

कांग्रेस ने कहा धन्यवाद भाजपा सच को स्वीकार करने के लिए

रायपुर/05 सितंबर 2018। विकास की चिड़िया के फुर्र हो जाने के लिये कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुये दिये गये भाजपा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक के बयान पर कांग्रेस ने उनके प्रति धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा है कि आखिरकार उन्होंने सच स्वीकार कर लिया है कि विकास की चिड़िया तो फुर्र हो चुकी है।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि कांग्रेस तो बहुत समय से कह रही थी कि विकास की चिड़िया उड़ चुकी है लेकिन मुख्यमंत्री और भाजपा के नेता मानने को तैयार नहीं हो रहे थे। अब भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने तो इसे मान ही लिया।

उन्होंने कहा है कि भाजपा के अध्यक्ष इस स्वीकारोक्ति के बाद अगर विकास की चिड़िया के उड़ जाने का दोष अगर कांग्रेस पर मढ़ना चाहते हैं तो उन्हें याद कर लेना चाहिए कि छत्तीसगढ़ में पिछले 15 वर्षों से भाजपा की ही सरकार है और विकास का सारा ज़िम्मा उन पर ही था। आज अगर छत्तीसगढ़ सबसे अधिक झुग्गियों वाला देश का सबसे ग़रीब राज्य है तो इसका दोष भाजपा का ही है। अगर राज्य में आधे से अधिक महिलाएं कुपोषित हैं और लगभग 40 प्रतिशत बच्चे कुपोषित हैं तो इसके लिए भी कांग्रेस नहीं भाजपा की सरकार ज़िम्मेदार है।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा की सरकार के विकास मॉडल का ही प्रतिफल है कि छत्तीसगढ़ का ख़ुशहाल रहने वाला किसान आत्महत्या के लिए मजबूर हो गया है और राज्य में लगभग 50 लाख युवा बेरोज़गार घूम रहे हैं. राज्य में 27 हजार महिलाएं लापता हैं और असुरक्षा की भावना लगातार बढ़ी है। उन्होंने कहा है कि हेलिकॉप्टर से विकास देखने निकली भाजपा सरकार को बताना चाहिए कि कितने दिनों तक बिलासपुर से रायपुर और बिलासपुर से अंबिकापुर के राष्ट्रीय राजमार्गों पर खस्ता हाल की वजह से कई कई किलोमीटर का जाम लगता रहेगा।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा की विकास की अवधारणा कुछ चुनिंदा अमीरों तक सीमित है जबकि कांग्रेस ने हमेशा ग़रीबों और अंतिम व्यक्ति तक की चिंता की है। जनता सब समझ चुकी है। छत्तीसगढ़ के लोग वह पहले ही जान चुके हैं कि विकास की चिड़िया उड़ गई है।

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।