मां के दूध पिलाने से बच्चों के राइटी और लेफ्टी होने का है गहरा संबंध

एक शोध में पता चला है कि बच्चे को स्तनपान का समयकाल (Time to breastfeed the baby,) उसके हाथ उपयोग करने पर असर डाल सकता है।...

एजेंसी

न्यूयार्क, 9 जनवरी। आप बायें हाथ से काम करने वाले - left-hander (लेफ्टी) हैं या दायें हाथ से काम करने वाले - Right-hander (राइटी)? एक शोध में पता चला है कि बच्चे को स्तनपान का समयकाल (Time to breastfeed the baby,) उसके हाथ उपयोग करने पर असर डाल सकता है। यूनिवर्सिटी ऑफ वाशिंगटन (University of washington) में हुए अध्ययन के अनुसार, जिन शिशुओं ने स्तनपान किया होता है, उनमें बाएं हाथ से काम करने वाले कम पाए गए हैं।

इसमें पाया गया कि नौ माह से ज्यादा समय तक स्तनपान करने वाले शिशु दाएं हाथ से काम करते हैं।

दूसरी तरफ पाया गया कि जिन शिशुओं ने बोतल से दूध (Bottle to milk) पिया, उनमें बाएं हाथ से काम करने वाले अधिक मिले।

इसका कारण यह हो सकता है कि हाथ पर नियंत्रण करने वाला दिमाग का हिस्सा दिमाग के एक हिस्से में स्थिर कर जाता है।

शोधकर्ताओं ने बताया कि संभव है कि स्तनपान से यह प्रक्रिया गति पकड़ लेती है जिससे शिशु के दाएं या बाएं हाथ से काम करने का निर्धारण होता है।

अध्ययन के लिए शोधकर्ताओं ने 62,129 मां-बच्चे के जोड़ों को शामिल किया।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

 

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।