चीन की घुसपैठ पर कांग्रेस ने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया

कांग्रेस ने सीमा पर चीन से हो रही लगातार घुसपैठ को रोक न पाने के  कारण केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया है।...

नई दिल्ली, ३ जुलाई। कांग्रेस ने सीमा पर चीन से हो रही लगातार घुसपैठ को रोक न पाने के  कारण केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया है।

कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने आज बताया कि कैलाश मानसरोवर यात्रा को रोक कर चीन ने ठीक नहीं किया। उन्होंने कहा कि चीन  के इन कारनामों से हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा पर आंच आती है। 

उन्होंने स्पष्ट किया कि राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए  राष्ट्रहित में सरकार जो भी कदम उठायेगी, कांग्रेस उसका समर्थन करेगी। लेकिन इतना कहने के बाद पार्टी ने केंद्र सरकार की कथित असफलताओं का उल्लेख करना शुरू कर दिया।

प्रवक्ता ने बताया कि  पिछले ४५ दिनों में चीन ने भारत की सीमा में कम  से कम १२० बार अनधिकृत प्रवेश किया  है जबकि पिछले दस महीने में २४० बार लाइन आफ एक्चुअल के रास्ते घुसपैठ किया है।  जब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सत्ता में आये हैं चीन के साथ हमेशा अच्छे सम्बन्ध बनाने की कोशिश करते रहे। अहमदाबाद में चीन के  जिन शिंग्पिंग को झूला झुलाने का भी श्री  सिंघवी ने व्यंग्यात्मक लहजे में उल्लेख किया।  जबकि चीन हमारे बंकरों को तबाह करके उनकी फोटो पोस्ट कर देता है और लगातार हमको अपमानित करने की कोशिश करता है।

उन्होंने इस बात पर भी तकलीफ जताई कि हमारा सबसे अच्छा दोस्त  भूटान चीन के रहमोकरम पर छोड़ दिया गया है।

कांग्रेस ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बयान पर भी एतराज़ जताया जिसमें उन्होने कथित रूप से कहा था कि चीन की घुसपैठ असलियत नहीं है, वह एक परसेप्शन है।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।