नरेंद्र भाई! ट्रम्प को गले लगाना काम नहीं आया : हाफिज सईद की रिहाई पर राहुल गांधी का मोदी पर वार

पाकिस्तान में आतंकी हाफिज सईद की रिहाई और अमेरिका की ओर से पाकिस्तान सेना को लश्कर फंडिंग मामले में क्लीन चिट को लेकर राहुल ने मोदी और ट्रंप की दोस्ती पर तंज कसा।...

नई दिल्ली। मुंबई हमले के गुनहगार हाफिज सईद की रिहाई को लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है।

शनिवार को माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर पाकिस्तान में आतंकी हाफिज सईद की रिहाई और अमेरिका की ओर से पाकिस्तान सेना को लश्कर फंडिंग मामले में क्लीन चिट को लेकर राहुल ने मोदी और ट्रंप की दोस्ती पर तंज कसा।

ट्विटर पर राहुल गांधी ने लिखा,

'नरेंद्रभाई बात नहीं बनी, आतंक का मास्टरमाइंड आजाद, राष्ट्रपति ट्रंप ने लश्कर फंडिंग मामले में पाक सेना को क्लीन चिट दे दी, गले लगाने की नीति काम नहीं आई, जल्द ही और गले लगाने की जरूरत है।'

अपने एक ट्वीट से राहुल गांधी ने मोदी सरकार को कई मोर्चों पर घेरने की कोशिश की है।

बतादें शुक्रवार को ही पाकिस्तान की अदालत ने मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और जमात उद दावा सरगना हाफिज सईद को जेल से रिहा कर दिया। भारत समेत कई राष्ट्रों ने पाकिस्तान के इस कदम का कड़ा विरोध किया है। अमेरिका ने भी पाक सरकार को हाफिज सईद को तुरंत गिरफ्तार करने की चेतावनी तक दी है।

बता दें कि हाफिज ने रिहा होते ही कहा था कि भारत के अनुरोध पर अमेरिका के दबाव में उसे हिरासत में लिया गया था। हाफिज का जेल से बाहर आना भारत और अमेरिका जैसे देशों के लिए कड़ी चुनौती से कम नहीं है।

इस मुद्दों को उठाते हुए राहुल गांधी ने पीएम मोदी और अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की दोस्ती पर तंज कसा है।

दोनों नेताओं के गले मिलने को राहुल ने 'हगफ्लोमेसी' बताया है। साथ ही राहुल ने यह भी लिखा कि इतना गले मिलने से भी बात नहीं बन पाई है और ज्यादा गले मिलने की जरूरत है।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।