आतंकवाद विश्व, समाज के लिए बड़ा खतरा : हामिद अंसारी

उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने आतंकवाद को पूरे विश्व और सभी समाज के लिए बड़ा खतरा बताते हुए आज कहा कि इसने महामारी का रूप ले लिया और दुनिया का लगभग हर देश छोटे या बड़े रूप में इससे पीड़ित है।...

नई दिल्ली, 29 अप्रैल। उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने आतंकवाद को पूरे विश्व और सभी समाज के लिए बड़ा खतरा बताते हुए आज कहा कि इसने महामारी का रूप ले लिया और दुनिया का लगभग हर देश छोटे या बड़े रूप में इससे पीड़ित है।

श्री अंसारी ने आर्मेनिया और पोलैंड की पांच दिन की यात्रा की समाप्ति के बाद स्वदेश लौटते समय अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद पर समग्र संधि (सीसीआईटी) के बारे में पत्रकारों द्वारा पूछे गये सवाल पर कहा कि 1994 में वह संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि थे, उस दौरान भारत ने सीसीआईटी पर एक प्रस्ताव पेश किया था लेकिन आतंकवादी की परिभाषा के संबंध में मतभेद होने के कारण इस प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया गया।

उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समझौते करते समय सभी तरह की कानूनी समस्यायें आती हैं और जो लोग इन्हें आगे नहीं बढ़ने देना चाहते हैं, वे कानूनी कायदे बीच में ले आते हैं।

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
क्या मौजूदा किसान आंदोलन राजनीति से प्रेरित है ?