माओ का पुनर्जन्म ! आजीवन चीन के राष्ट्रपति बने रहेंगे शी जिनपिंग

इस संवैधानिक बदलाव के साथ ही 64 वर्षीय शी जिनपिंग का आजीवन चीनी राष्ट्रपति बने रहने का रास्ता साफ हो गया है। ...

शी जिनपिंग आजीवन बने रहेंगे चीन के राष्ट्रपति

बीजिंग 11 मार्च। चीन ने राष्ट्रपति के लिए दो कार्यकाल की सीमा को समाप्त करते हुए आज नए संवैधानिक बदलावों को मंजूरी प्रदान की। इसके साथ ही शी जिनपिंग के लिए आजीवन देश का राष्ट्रपति बने रहने का रास्ता साफ हो गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन की नेशनल पीपुल्स कांग्रेस की हुई वार्षिक बैठक में नये संवैधानिक बदलावों को मंजूरी दी गयी।

करीब तीन हजार सदस्यों वाली संसद ‘नेशनल पीपुल्स कांग्रेस’ में संविधान संशोधन प्रस्ताव को पेश किया गया। कुल 2,964 सदस्यों में से केवल दो ने इस प्रस्ताव के खिलाफ मतदान किया जबकि तीन सदस्य मतदान से अनुपस्थित रहे।

इस संवैधानिक बदलाव के साथ ही 64 वर्षीय शी जिनपिंग का आजीवन चीनी राष्ट्रपति बने रहने का रास्ता साफ हो गया है। अभी उनका दूसरा कार्यकाल चल रहा है जो 2023 में समाप्त होगा।

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।