कासगंज दंगे के लिए योगी सरकार जिम्मेवार : माले

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) की राज्य इकाई ने कासगंज दंगे के लिए योगी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।...

लखनऊ, 28 जनवरी। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) की राज्य इकाई ने कासगंज दंगे के लिए योगी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। पार्टी ने कहा है कि विकास के एजेंडे समेत सभी मोर्चों पर विफल भाजपा सरकार लोगों का ध्यान हटाने के लिए साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण की राजनीति कर रही है।

पार्टी के राज्य सचिव सुधाकर यादव ने रविवार को जारी बयान में कहा कि कासगंज दंगे की व्यापकता से संकेत मिलता है कि यह सोची-समझी योजना के तहत कराया गया है। दंगाई हिंसा, आगजनी व लूटपाट करते रहे और इस दौरान प्रशासन नदारद रहा। तिरंगा यात्रा निकालने के साथ ही उकसाने वाले और भड़काऊ नारे लगाने की भी खुली छूट दी गयी। परिणामस्वरूप स्थिति बिगड़ी।

माले राज्य सचिव ने कहा कि संघ-भाजपा की रणनीति के तहत ये दोनों और उनके अनुषांगिक संगठन 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी के लिए माहौल को ध्रुवीकृत करने में जुट गए हैं। इसके तहत राममंदिर मुद्दे को हवा देने से लेकर साम्प्रदयिक सौहार्द बिगाड़ने के हर तरह के उपक्रम अभी से शुरू कर दिए गए हैं।

माले नेता ने प्रदेशवासियों से अमन और आपसी भाईचारा बनाये रखने की अपील की। उन्होंने वाम, लोकतांत्रिक आंदोलनकारी शक्तियों से संघ-भाजपा की साजिश के खिलाफ एकजुट होकर आगे आने का आह्वान किया।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।